बच्चों के विकास के लिए लड़ाई लड़ती रहेगी सरकार : रमन

रायपुर/दंतेवाड़ा : नक्सली दंतेवाड़ा के बच्चों के विकास को रोकने का काम कर रहे हैं। नक्सलवादियों से कहना चाहता हूं स्कूल और कॉलेज तोड़कर कुछ हासिल नहीं होगा। हम बच्चों के विकास के लिए लड़ाई लड़ते रहेंगे। बस्तर के बच्चे इंजीनियर और डॉक्टर बन रहे हैं। यहां के बच्चों में कलेक्टर और एसपी बनने की क्षमता है। गुरुवार को उक्त बातें मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कही। वे दंतेवाड़ा में संकल्प से सिद्धि की ओर बढ़ते कदम कार्यक्रम में लोगों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने 269 करोड़ रुपए के विकास कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया।

269 करोड़ के विकास कार्यों का किया लोकार्पण : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि, दंतेवाड़ा में प्रदेश का पहला लाईवलीहुड कॉलेज खुला और उसके बाद 27 जिलों में शुरू हुआ। अभी 19 बच्चों का आईआईटी में सेलेक्शन हुआ है। आजादी के बाद से दंतेवाड़ा को विकास का इंतज़ार था। प्रदेश में भाजपा सरकार बनने के बाद पहली विकास यात्रा यहीं से शुरू हुई। दंतेश्वरी माता के आशीर्वाद से आज यहां 269 करोड़ रुपए के विकास कार्यों का लोकार्पण हो रहा है। दंतेवाड़ा प्रदेश के अन्य जिलों के मुकाबले तेजी से विकास कर रहा है। आज यहां अच्छे डॉक्टर, अस्पताल हैं और 9 करोड़ की लागत से डायलिसिस सेंटर यहां खुल रहा है। कुआकोंडा की विद्युत की शिकायत को दूर किया जा रहा है, अब यहां कम ओल्टेज की शिकायत नहीं होगी। दंतेवाड़ा ने खनन के क्षेत्र में नए कीर्तिमान स्थापित किए हैं।

दंतेवाड़ा का तेजी से हो रहा विकास : उन्होंने कहा कि दंतेवाड़ा में तेजी से विकास हो रहा है, एक- एक गांव को सड़क से जोडऩे का कार्य सरकार की ओर से किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि नवरात्रि का पहला दिन है, मैं मां दंतेश्वरी के सामने शीश झुकाकर प्रदेश के विकास, शांति और समृद्धि की कामना की है। माता के सामने सच्चे मन से की गई प्रार्थना पूरी होती है। 14 वर्ष पूर्व माता के दरबार से विकास यात्रा की शुरुआत की थी। दंतेवाड़ा के किसानों को अकाल की स्थिति में चिंता करने की जरूरत नहीं है। अकाल से राहत के लिए प्रधानमंत्री मोदी के निर्देश पर किसानों को दीपावली के पूर्व बोनस दिया जा रहा है। तेंदूपत्ता तोडऩे वाले आदिवासी भाइयों को 1800 रुपए पारिश्रमिक दिया जाता है। मां दंतेश्वरी की कृपा से दंतेवाड़ा का कोई भी व्यक्ति भूखा नहीं रहता। सभी को सस्ता चावल, चना और नमक दिया जा रहा है। इस अवसर पर मंत्री केदार कश्यप और सांसद दिनेश कश्यप मौजूद थे।

Back to top button