चेन स्नेचिंग में पकड़ा गया डाकू मलखान सिंह का पोता

गैंग बनाई और लखनऊ व इसके आसपास चेन स्नेचिंग किया शुरू

लखनऊ। चंबल में आतंक का पर्याय बन चुके डाकू मलखान सिंह के पोते को लखनऊ पुलिस ने चेन स्नेटिंग के केस में गिरफ्तार किया है। वहीं डाकू मलखान पर सैकड़ों की संख्या में अपहरण के केस दर्ज थे। यूपी और एमपी के बीहड़ों में आतंक का दूसरा नाम मलखान सिंह था। ये सत्तर का दौर था जब बड़ी-बड़ी मूंछों वाले मलखान का सिक्का चलता था। हालांकि बाद में तब 33 साल के मलखान सिंह मध्य प्रदेश के एमपी के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया था। रिपोर्ट के मुताबिक मलखान सिंह अब खेती का काम करता है, लेकिन पोता अपराध की दुनिया में कदम रख चुका है।

खबरों के मुताबिक मलखान सिंह के पोते अजय सिंह ने कुछ दोस्तों और सुनार संग एक गैंग बनाई और लखनऊ व इसके आसपास चेन स्नेचिंग शुरू कर कर दिए। आरोप है कि कुछ महिलाओं के गहने भी लूटे गए। बाद में इस तरह की घटनाओं में बढ़ोतरी के बाद पुलिस के कान खड़े और आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए खाका तैयार किया। शुरुआती जांच में पता चला की एक आरोपी अजय सिंह, डाकू मलखान सिंह का पोता है। बाद में लखनऊ के एसपी दीपक कुमार ने पुलिस की एक टीम बनाई और खुफिया जानकारी के आधार पर आरोपियों धर दबोचा। पुलिस ने अजय और उसके साथियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पुलिस मामले में ज्यादा जानकारी जुटाने की कोशिश कर रही है।

Back to top button