क्राइमछत्तीसगढ़बड़ी खबरराज्य

आरक्षकों ने युवक की बेरहमी से की पिटाई, कि वह अपने दो पैरों पर चलने के काबिल नहीं रहा

भिलाई. एक तरफ जहाँ पुलिस और जनता के बीच समाज में तालमेल बैठाने की बात कर रही है। वहीं दूसरी तरफ पुलिस की छवि धूमिल करने वाली घटना सामने आई है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक पुलिस के आरक्षकों ने एक युवक की ऐसी पिटाई की है कि वह अपने दो पैरों पर चलने के काबिल नहीं रहा। घायल युवक को चारपाई पर लेटाकर गुरुवार को परिजन शिकायत करने के लिए एसपी प्रखर पांडेय के पास पहुंचे।

यह घटना छावनी थाना क्षेत्र की है, जहाँ एक युवक की बेरहमी से पिटाई करने के कारण उसके दोनों पैरों की हड्डी टूट गई है। प्लास्टर बंधे हुए हालत में चारपाई पर लेटाकर उन्हें एसपी के पास ले जाया गया। युवक का आरोप है कि कैंप-2 निवासी अब्बास खान की आरक्षकों ने डंडे से पिटाई की है। एसपी से शिकायत में युवक ने बताया कि झूठे केस में फंसाने की धमकी देकर तीनों आरक्षक लंबे समय से अवैध वसूली कर रहे थे और 20 हजार रुपए नहीं दे पाने के कारण घर से उठाकर उसकी पिटाई कर दी। तीनों आरक्षकों ने उसे घटना का जिक्र करने पर जान से मारने की धमकी भी दी है।

इस मामले में दुर्ग एसपी प्रखर पांडे ने बताया कि प्रार्थी की शिकायत पर सीएसपी छावनी विश्वास चंद्राकर को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया है। जांच के दौरान जो भी दोषी पाया जाएगा उसके बाद कार्रवाई की जाएगी।

परिजन चारपाई में ले गये एसपी के सामने

इस मामले में छावनी थाना प्रभारी विनय सिंह बघेल ने बताया कि- ‘युवक आदतन अपराधी है और शुक्रवार को उसे गिरफ्तार करने के लिए पुलिस जब उसके घर पहुंची तो युवक की पत्नी ने दरवाजा बंद कर लिया और आरोपी भागने की कोशिश में घर की छत से कूद गया। छत से कूदने के कारण युवक के पैर में चोट लगी है और सजा से बचने के लिए आरोपी झूठा आरोप लगा रहा है।‘

Back to top button