केंद्र सरकार के हाथ इस देश के अन्नदाताओं के खून से रंगे हुए है,इन पर भरोसा नही किया जा सकता : पलविंदर सिंह पन्नू 

लगभग 700 किसानो की शहादत के पश्चात खुली केंद्र सरकार की आंखे इसबात को कभी नही भूलेगा देश का किसान- कोमल हुपेंडी,प्रदेश अध्यक्ष

भाजपा भरोसे के काबिल नहीं चुनाव में हार की डर से लिया कानून वापसी का निर्णय-उत्तम जयसवाल,प्रदेश सचिव

रायपुर : करीब साल भर से किसान खून जमा देने वाली ठंड से लेकर गर्मी, धूप बरसात, बदनामी, फर्जी एफआईआर सभी तरह के अत्याचार को सहन करते हुए अपनी अटल इक्षाशक्ति के बल पर डटे रहे । आखिरकर सत्य की जीत हुई, और किसानों ने इस लड़ाई का पहला पड़ाव जीत लीया है। आम आदमी पार्टी के सभी नेता किसानों के इस निर्णायक लड़ाई में कंधा से कंधा मिलाकर चलते रहे और आगे भी लड़ते रहेंगे ।

प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी ने कहा

छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी ने कहा जो सत्य के मार्ग पर चलता है उसे कष्ट झेलने पड़ते हैं, किसानों को इस लड़ाई में शहादत देनी पड़ी, अत्याचार सहने पडे, परंतु इस देश के अन्नदाताओं ने भी इस घमंडी, अत्याचारी तानाशाही मोदी सरकार के सामने नही झुके । जिन किसानों को खालिस्तानी और डकैत कहने से भाजपा के नेता नहीं चुके उन्हीं किसानों के दबाव में मोदी और भाजपा सरकार को झुकना पड़ा है। लेकिन जब तक केंद्र की सरकार इस तीनों काले कृषि कानून को रद्द नहीं कर देती है उस पर भरोसा नहीं किया जा सकता है।

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने इस घोषणा के लिए प्रकाश पर्व को चुना ताकि उनकी आलोचना न हो। जो धोखा इस देश को भाजपा सरकार ने दीया है वैसा धोखा प्रजातंत्र में अन्य किसी भी सरकार ने नहीं किया।

उत्तम जयसवाल ने कहा मोदी सरकार ने दिल्ली बोर्डर से लेकर लखीमपुर खीरी तक में लगभग 700 से भी अधिक किसानों की बली ले ली है। केंद्र की मोदी सरकार के हाथ किसानों के खून से रंगें हैं। इन पर भरोसा नहीं किया जा सकता। मोदी सरकार ने षडयंत्रपूर्वक तीनो कृषि कानून अपने चुनिंदा उद्योगपति दोस्तों को फायदा पहुंचाने को लेकर आई थी। मोदी को सीधे लोगों के आखों में धूल झोंकने से पहले एक अध्यादेश लाना चाहिए था

शहर अध्यक्ष पलविंदर सिंह पन्नू.ने कहा

शहर अध्यक्ष पलविंदर सिंह पन्नू.ने कहा चाहे वो तानाशाही मोदी की सरकार हो या फिर बघेल की सरकार। किसानों के हित के लिए आम आदमी पार्टी’ किसानों के साथ मिलकर सड़क से लेकर संसद तक की लड़ाई लड़ने के लिए तैयार हैं।

आम आदमो पार्टी मांग करती है की देश के सभी किसानों से मोदी सरकार माफी मांगें व इस आंदोलन के दौरान हुए शहीदों के परिवार को अधिक से अधिक मुआवजा देते हुए लखीमपुर खीरी कांड में फंसे मंत्री व उसके बेटे, यहां तक यूपी सरकार को पहले बर्खास्त करें। महंगाई की मार झेल रहे देश मे पेट्रोल डीजल की कीमत 50/- रूपये प्रति लीटर तक लेकर आए एवं सभी फसलों पर एमएसपी लागू करे

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button