कांग्रेस सरकार में मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा और शांति धारीवाल के बीच बढ़ी गरमा गर्मी

बैठक के बाद एक बार फिर दोनों नेता बाहर निकलने पर एक दूसरे से भिड़ गए

जयपुर:फ्री वैक्सीन अभियान को लेकर शिक्षा मंत्री और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने सभी जिला कलेक्टर को ज्ञापन देने की कही थी बात जिसका शहरी विकास मंत्री शांति धारीवाल ने विरोध किया.

शांति धारीवाल ने डोटासरा से कहा कि यह ज्ञापन राष्ट्रपति को भेजा जाना चाहिए, कलेक्टर को देकर क्या करोगे? इस पर डोटासरा ने कहा फिर राष्ट्रपति को देकर क्या कर लोगे. दोनों ही नेताओं के बीच होने वाली इस बहस को सीएम गहलोत देखते रहे.

बैठक खत्म होने के बाद भी दोनों मंत्री आपस में बहस करते रहे. दोनों को शांत करने के लिए कई वरिष्ठ मंत्रियों ने मोर्चा संभाला. वहीं डोटासरा ने मुख्यमंत्री से शिकायत की, कि वरिष्ठ मंत्री संगठन की मदद नहीं करते हैं.

शांति धारीवाल के टोकने से नाराज होकर डोटासरा ने मुख्यमंत्री से शिकायती लहजे में कहा कि आपके सामने सब कुछ हुआ है, पार्टी संगठन के मुद्दे पर बात हुई तो अध्यक्ष को बोलने तक नहीं दिया, इस तरह के बर्ताव पर कार्रवाई होनी चाहिए.

जानकारी के मुताबिक डोटासरा कैबिनेट की इस बैठक से जाने को उठे, लेकिन सीएम गहलोत ने उन्हें आपस में झगड़ा ना करते हुए अपनी बात पूरी करने को कहा. ऐसे में भले ही सीएम ने दोनों नेताओं को शांति रहने के लिए कहा हो, लेकिन दोनों नेताओं के बीच विवाद थमा नहीं.

धारीवाल ने डोटासरा से यहां तक कह दिया कि जो बिगाड़ना है वह बिगाड़ लेना, मैंने बहुत अध्यक्ष देखे हैं. वहीं इस नोक झोक के बीच वर्चुअल मीटिंग में शामिल हुए अन्य नेताओं ने अपना कैमरा बंद कर लिया.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button