छत्तीसगढ़

संत कबीर के विचार आज के युग में भी प्रासंगिक: डॉ. रमन सिंह

लिमतरा में आयोजित कबीर सत्संग समारोह में शामिल हुए मुख्यमंत्री

रायपुर: मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि संत कबीर के कालजयी विचार आज के युग में भी प्रासंगिक है। उन्होंने तत्कालीन समाज के पाखंड, कुरीतियों और सामाजिक बुराईयों के खिलाफ आवाज उठाई और समाज को सही मार्ग दिखाया। संत कबीर की वाणी का प्रभाव देश और दुनिया सहित पूरे छत्तीसगढ़ के लोगों पर भी है। संत समागम में विशाल जनसमुदाय उपस्थित था।

मुख्यमंत्री आज धमतरी जिले के ग्राम लिमतरा में आयोजित तीन दिवसीय संत कबीर सत्संग समारोह को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने कबीर आश्रम परिसर में नवनिर्मित सत्संग भवन का लोकार्पण किया तथा आश्रम परिसर में अतिरिक्त कक्ष के निर्माण के लिए 20 लाख रूपए के अनुदान की घोषणा की। मंच पर लहरतारा वाराणसी (उत्तर प्रदेश) से आए संत श्री अर्द्धनाम साहेब और खरसिया आश्रम के गद्दीनशीन धर्माधिकारी श्री सुधाकर शास्त्री उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ में भी संत कबीर के अनुयायी बड़ी संख्या में हैं। उन्होंने कहा कि कभी पिछड़े राज्यों में गिना जाने वाला छत्तीसगढ़ आज महान साधु-संतों के आशीर्वाद से लगातार अमन और विकास के रास्ते पर तेजी से आगे बढ़ रहा है।

सांसद श्री साहू ने अपने संक्षिप्त उद्बोधन में कहा कि हमारा देश ऋषि-मनीषियों की तपोभूमि रहा है। संत कबीर दास जैसे महान् संतों की बदौलत आज भी नैतिकता, सद्भाव और सद्विचार लोगों में जीवित हैं। समाज के भटके हुए लोगों को सही मार्ग सद्गुरूओं के विचार ही पथप्रदर्शक के रूप में दिखाते हैं।

इस अवसर पर महासमुंद लोकसभा क्षेत्र के सांसद श्री चंदूलाल साहू, प्रदेश के स्कूल शिक्षा एवं आदिम जाति विकास मंत्री श्री केदार कश्यप सहित धमतरी विधायक श्री गुरूमुख सिंह होरा, जिला पंचायत अध्यक्ष धमतरी श्री रघुनदंन साहू, महापौर धमतरी श्रीमती अर्चना चौबे, पूर्व विधायक धमतरी श्री इंदर चोपड़ा, जनपद पंचायत धमतरी की अध्यक्ष श्रीमती रंजना साहू, कलेक्टर धमतरी डॉ. सी.आर. प्रसन्ना और एस.पी श्री रजनेश सिंह सहित बड़ी संख्या में कबीरपंथ के अनुयायी और विभिन्न ग्रामों से आए श्रद्धालु तथा ग्रामीण मौजूद थे।

Tags
Back to top button