टेक्नोलॉजी

मोबाइल फोन सेक्टर पर भी पड़ा वैश्विक मंदी का असर

5जी जैसे नेटवर्क लांच होते ही सेक्टर मंदी को पीछे छोड़ देगा

सैन फ्रांसिस्को:देश में आर्थिक मंदी को बढ़ावा देने का बहुत से कारण हैं. लेकिन इसकी अंदरूनी वजह ज्यादा बड़ी हैं. जैसे कि अर्थव्यवस्था के महत्वपूर्ण औद्योगिक क्षेत्रों में गिरावट, डिमांड और सप्लाई के बीच लगातार कम होता अंतर और निवेश में मामूली कमी जैसी चीजें मंदी की तरफ इशारा कर रही हैं.

वहीं अब मोबाइल फोन सेक्टर में भी मंदी की मार पड़ता दिखाई दे रहा है. इस साल प्रीमियम स्मार्टफोन की वैश्विक बिक्री में 3.2 फीसदी की गिरावट आएगी, जो इस श्रेणी की सबसे खराब गिरावट मानी जाएगी.

गार्टनर के सीनियर रिसर्च डायरेक्टर रंजीत अटवाल ने एक बयान में कहा, ‘ऐसा उपभोक्ताओं की ओर से अपने फोन पर लंबे समय तक बने रहने और नई तकनीक के सीमित आकर्षण को देखते हुए होगा.’ अध्ययन का अनुमान है कि 5-जी (5G) फोन की हिस्सेदारी 2020 में 10 फीसदी से बढ़कर 2023 तक 56 फीसदी हो जाएगी.

जानकार मानते हैं कि यूं तो दुनिया के हर सेक्टर में मंदी अपना असर दिखा रहा है, लेकिन जहां तक मोबाइल फोन सेक्टर की बात है तो यहां नई तकनीक के जरिए इसे दूर किया जा सकता है. खासकर भारत जैसे बड़े बाजार में 5जी जैसे नेटवर्क लांच होते ही मोबाइल फोन सेक्टर मंदी को पीछे छोड़ देगा.

मंदी के दौर में लोगों के पास नकदी की कमी हो जाती है. ऐसे में उनकी खरीद क्षमता घट जाती है, जिसके चलते वह अपने जरूरत के हर सामान में थोड़ी कंजूसी करते हैं. इसी वजह से मोबाइल फोन सेक्टर में भी इसका असर दिख रहा है.

Tags
Back to top button