छत्तीसगढ़ तक रोहिंग्या मुसलमानों की आमद और उन्हें यहाँ बसाने की चल रही सियासी कोशिशें चिंता का विषय : भाजपा

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने अंबिकापुर नगर निगम में जाति और निवास प्रमाण पत्र बनाने के लाए गए प्रस्ताव के मद्देनज़र आशंका जताई- इनमें कुछ रोहिंग्या मुसलमान हैं, जिसकी जाँच की जानी चाहिए।

सिंहदेव ने दस्तावेज़ों की बारीकी से जाँच कराने और प्रस्ताव के साथ ज़मीन संबंधी कोई राजस्व रिकॉर्ड नहीं पाए जाने पर प्रस्ताव लाने वाले एवं प्रमाणित करने वाले कांग्रेस नेता पर आपराधिक मामला क़ायम करने की मांग की

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अनुराग सिंहदेव ने छत्तीसगढ़ तक रोहिंग्या मुसलमानों की आमद और उन्हें यहाँ बसाने की चल रही सियासी कोशिशों पर गहरी चिंता जताई है। श्री सिंहदेव ने हाल ही अंबिकापुर नगर निगम की सामान्य सभा में सत्तापक्ष की ओर से कुछ लोगों को स्थानीय नागरिक के तौर पर मान्यता देने जाति और निवास प्रमाण पत्र बनाने के लाए गए प्रस्ताव के मद्देनज़र आशंका जताई कि प्रस्तावित लोगों में कुछ लोगों के रोहिंग्या मुसलमान होने की बात सामने आई है, जिसकी जाँच की जानी चाहिए।

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता श्री सिंहदेव ने कहा कि निगम की सामान्य सभा में 20 लोगों के लिए पिछड़ा वर्ग जाति और निवास प्रमाण पत्र बनाने के आए प्रस्ताव में 15 नाम मुस्लिम समुदाय के थे। इस आशंका से इंक़ार नहीं किया जा सकता कि पिछले कई वर्षों से अंबिकापुर में अवैध रूप से रह रहे ये मुस्लिम बांलादेशी रोहिंग्या मुसलमान हैं, जिनमें से 12 लोग मुस्लिम जुलाहा जाति के बताए गए हैं, जिन्हें छत्तीसगढ़ में अन्य पिछड़ा वर्ग की श्रेणी में माना जाता है। श्री सिंहदेव ने कहा कि यह सरकारी एजेंसियों की विफलता और नेताओं के वोट बैंक की सबसे गंदी और भयावह सियासत का नमूना है। नगर निगम में पार्षद आलोक दुबे के नेतृत्व में भाजपा ने इस प्रस्ताव का कड़ा विरोध किया है और साफ़ लफ़्ज़ों में कहा है कि कांग्रेस के लोग वोट बैंक की राजनीति के चलते यहाँ अवैध रूप से रह रहे रोहिंग्या मुसलमानों को जाति और निवास प्रमाण पत्र देकर उन्हें यहाँ स्थायी रूप से बसाने की यह घटिया राजनीति करके छत्तीसगढ़ को भी अशांत प्रदेश बनाने पर आमादा नज़र आ रहे हैं।

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता श्री सिंहदेव ने कहा कि रोहिग्याओं को बसाने के लिए कांग्रेस नगर निगम में अपने बहुमत का खुला दुरुपयोग कर यह प्रस्ताव पारित कराना चाहती है, लेकिन भाजपा अंबिकापुर में ऐसी किसी भी कोशिश को क़ामयाब नहीं होने देगी। श्री सिंहदेव ने इस प्रस्ताव के परिप्रेक्ष्य में प्रशासन से टीम गठित कर दस्तावेज़ों की बारीकी से जाँच कराने और उक्त प्रस्ताव के साथ उनके ज़मीन संबंधी कोई राजस्व रिकॉर्ड नहीं पाए जाने पर प्रस्ताव लाने प्रामाणित करने वाले कांग्रेस नेता पर आपराधिक मामला क़ायम करने की मांग की है। श्री सिंहदेव ने बताया कि प्रमाण पत्र हासिल करने की गरज से उक्त अल्पसंख्यकों ने ज़िला, तहसील प्रशासन तक गुहार लगाई थी, लेकिन कोई वैध दस्तावेज़ नहीं होने के कारण उन्हें बैरंग लौटाया गया था और अब वही लोग कांग्रेस के अल्पसंख्यक समुदाय के पार्षदों के माध्यम से यह प्रस्ताव पारित कराना चाहते हैं। श्री सिंहदेव ने कहा कि भाजपा ऐसे किसी को भी ग़ैर-क़ानूनी तौर पर प्रमाण पत्र देकर बसाए जाने की पुरज़ोर मुख़ालफ़त करेगी।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button