अन्य

रेलवे में काम करने वाले इन कर्मचारियों की नौकरी खतरे में

बरेली जंक्शन पर किंग एजेंसी के 190 सफाई कर्मचारी कार्यरत हैं

नई दिल्ली : कोरोना वायरस संक्रमण और ट्रेनों का संचालन न होने को लेकर रेलवे स्टेशनों से 50 फीसदी सफाई कर्मियों को हटाया जाएगा। इस बात की जानकारी पर सफाई कर्मचारियों ने जंक्शन पर हंगामा किया। बोले कि जब सभी सफाई कर्मचारी रखे जाएंगे तभी काम करेंगे नहीं तो कोई कर्मचारी काम नहीं करेगा।

रेलवे में प्राइवेट एजेंसियों के माध्यम से स्टेशन परिसर और ट्रेनों की सफाई का कार्य होता है। लखनऊ, मुरादाबाद, रामपुर, बरेली सभी जगह एजेंसी के माध्यम से सफाई होती है। बरेली जंक्शन पर किंग एजेंसी के 190 सफाई कर्मचारी कार्यरत हैं जो दो शिफ्ट में काम करते हैं।

ट्रेनों का संचालन बंद

22 मार्च से कोरोना संक्रमण के कारण ट्रेनों का संचालन बंद है। स्टेशन की तो सफाई हो रही है लेकिन ट्रेनें बंद होने के कारण सफाई का कार्य नहीं हो रहा। इस कारण रेल बोर्ड ने यह निर्णय लिया है कि 50 फीसदी ही कर्मचारी कार्य करेंगे। आदेश आने पर प्राइवेट एजेंसी ने कर्मचारियों को जानकारी दी तो सभी सफाई कर्मचारी आगबबूला हो गए। हंगामा शुरू कर दिया।

किंग एजेंसी के मैनेजर आशीष राय का कहना है कि बोर्ड के आदेशों का पालन कराया जाएगा। बोर्ड से मिले निर्देश के अनुसार सफाई कर्मचारी नियुक्त किए जाएंगे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button