मजदूर को आई झपकी, दबते गया दाल में, दम घुटने से हो गई मौत

विकल्प तललवार

बिलासपुर। सिरगिट्टी के औद्योगिक परिक्षेत्र स्थित सत्यम शिवम दाल मिल में काम करते समय झपकी की वजह से दाल के ढेर में दबने से मौत हो गई।

मजदूर को झपकी आ गई और वह दाल में दबने लगा। फिर दम घुटने से उसकी मौत हो गई। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। पुलिस के अनुसार चकरभाठा क्षेत्र के कुआं बोड़सरा निवासी सुरेश पोर्ते पिता परदेशी पोर्ते (18) पिछले दो माह से सिरगिट्टी औद्योगिक परिक्षेत्र स्थित सत्यम शिवम दाल मिल में काम करता था।

उसकी ड्यूटी रात आठ बजे से सुबह आठ बजे तक रहती थी। गुरुवार की रात वह दाल मिल की टंकी की सफाई कर रहा था। घटना तड़के करीब चार बजे की है। टंकी की सफाई करते समय उसकी आंख लग गई।

इस बीच टंकी के दूसरे छोर में दाल भरी जा रही थी। नींद में सुरेश दाल में दबते गया और उसे भनक नहीं लगी। अचानक जब उसका सिर दाल में दबने लगा, तब अचानक उसे पता चला। उसने आवाज लगाई और दाल के बीच उठने की कोशिश करने लगा,

जिससे उसका भार पड़ने से और नीचे दब गया। इस बीच आसपास काम कर रहे मजदूरों ने उसे कड़ी मशक्कत के बाद बाहर निकाला। तब तक वह बेहोश हो गया था। उसे आनन-फानन में सिम्स ले जाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। इस मामले की सूचना पर पुलिस मर्ग कायम कर जांच कर रही है।

दोस्त को दी आवाज, लेकिन हो गई थी देर

सुरेश के साथ काम कर रहे रोहित यादव ने पुलिस को बताया कि दाल मिल में अलग.अलग टंकी में मजदूर काम करते हैं। सफाई करते समय टंकी चालू रहती है। लेकिन, देर रात ठंड होने के कारण सुरेश की आंख लग गई होगी।

गर्दन तक दाल पहुंचने पर वह चिल्लाने लगा। आवाज सुनकर रोहित ने अन्य कर्मचारियों को आवाज देकर मशीन बंद कराई। लेकिन, तब तक देर हो चुकी थी और सुरेश हड़बड़ाकर दाल में दबते चला गया।

मिल में काम कर रहा था बड़ा भाई

पुलिस की पूछताछ में पता चला कि दाल मिल का संचालक सरकंडा निवासी नंदलाल सिंधी है। मृतक युवक का बड़ा भाई सूरज पोर्ते भी उसी दाल मिल में काम करता था। चार भाइयों में मृतक तीसरे नंबर का था।

वहीं जिस समय यह हादसा हुआ उस समय सूरज भी दूसरी टंकी की सफाई कर रहा था। जैसे ही हादसे की खबर मिली, उसके होश उड़ गए। वह सदमे में आ गया और बिलख-बिलख कर रोने लगा।

1
Back to top button