छत्तीसगढ़

बापू का अंतिम शब्द था हे राम क्या प्रज्ञा का होगा नाथूराम ?- रिजवी

रायपुर: जकांछ प्रमुख एवं मध्यप्रदेश पाठ्य पुस्तक निगम के पूर्व अध्यक्ष इकबाल अहमद रिजवी ने कहा है कि भोपाल लोकसभा क्षेत्र की भाजपा प्रत्याशी एवं मालेगांव बम काण्ड की आरोपी प्रज्ञा ठाकुर द्वारा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताकर उन्होने यह सिद्ध कर दिया है कि वह गांधी के हत्यारे गोडसे जैसी ही उन्मादी मानसिकता मन मे रखती है।

उनके द्वारा अपराधिक मानसिकता के तहत ही हत्यारे गोडसे को देशभक्त बताया गया है। इस अक्षम्य बयान को मालेगांव ब्लास्ट में उनके विरूद्ध आरोप सिद्ध करने में साक्ष्य के रूप में उपयोग किया जा सकता है। प्रज्ञा की स्तरहीन सोच राष्ट्रपिता के प्रति घृणित विचारों को भी इंगित करती है।

प्रज्ञा को इस देशद्रोही बयान के लिए न केवल महिला जगत वरन् उन्हें संपूर्ण विश्व से मांफी मांगनी चाहिए, क्योकि बापू न केवल भारत वर्ष वरन्सं पूर्ण विश्व के स्थापित एवं स्वीकृत मार्गदर्शक शख्सियत के रूप में जाने जाते है। महात्मा गांधी के बारे में ऐसे ओछे स्तरहीन विचार एक देशद्रोही से ही अपेक्षित है। किसी शायर ने ठीक ही कहा है कि बापू तेरे कातिल आज भी जिंदा है।

Tags
Back to top button