घोड़े ‘शक्तिमान’ की टांग तोड़ने के आरोपी मसूरी विधायक के खिलाफ दर्ज मुकदमा वापस ले लिया गया

देहरादून पुलिस के घोड़े ‘शक्तिमान’ की टांग तोड़ने के आरोपी मसूरी विधायक गणेश जोशी के खिलाफ दर्ज मुकदमा वापस ले लिया गया है.बीजेपी की सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा था कि बीजेपी के जिन कार्यकर्ताओं पर राजनीतिक द्वेष के तहत मुकदमे दर्ज किए गए हैं, उन्हें वापस लिया जाएगा. सरकार बनने के छह महीने बाद ही विधायक गणेश जोशी पर दर्ज मुकदमा वापस ले लिया गया है.

गौरतलब है कि 14 मार्च 2016 को बजट सत्र के दौरान बीजेपी ने तत्कालीन कांग्रेस सरकार के खिलाफ विधानसभा तक रैली निकाली थी. इस दौरान पुलिसकर्मियों और बीजेपी समर्थकों के बीच झड़प हुई. आरोप है कि बीजेपी विधायक गणेश जोशी ने पुलिस की लाठी छीन कर फटकारी, जिसके चलते पुलिस के घोड़े शक्तिमान की टांग टूट गई.

सरकार ने वापस लिया मुकदमा

कई दिन तक शक्तिमान का इलाज हुआ और पैर काटना पड़ा. विदेशी डॉक्टरों ने कृत्रिम पैर लगाया लेकिन 20 मार्च 2016 को शक्तिमान की मौत हो गई. यह मामला सदन में भी खूब गूंजा. दिल्ली तक भी इसकी गूंज सुनाई दी.

घटना के बाद देहरादून के नेहरू कॉलोनी थाने में मुकदमा अपराध संख्या 54 /2016 दर्ज किया गया. आईपीसी की धारा 147,148, 332, 353, 34, 188, 429 और पशु क्रूरता अधिनियम के तहत केस दर्ज किया गया था. सीबीसीआइडी जांच के आदेश भी दिए गए थे. अब इस मामले में सरकार की ओर से मुकदमा वापस ले लिया गया है. मुकदमा वापस लेने पर सीबीसीआईडी जांच अपने आप ही समाप्त हो जाएगी.

1
Back to top button