छत्तीसगढ़

पर्यटन मंत्री ताम्रध्वज साहू के मुख्य आतिथ्य में मैनपाट महोत्सव का समापन

सांध्यकालीन सांस्कृतिक कार्यक्रम में पद्मश्री कैलाश खेर और पद्मश्री अनुज शर्मा की प्रस्तुति हुई

रायपुर। मैनपाट के रोपाखार जलाशय के पास आयोजित तीन दिवसीय मैनपाट महोत्सव का रंगारंग समापन 14 फरवरी को हुआ। सांध्यकालीन सांस्कृतिक कार्यक्रम में पद्मश्री कैलाश खेर और पद्मश्री अनुज शर्मा की प्रस्तुति हुई।

वहीं भोजपुरी सुपर स्टार काजल राघवानी, लाईड एण्ड साउंड की प्रस्तुति, शिव झांकी, शौल सेकर्स डांस ग्रुप कोलकाता तथा घनश्याम महानंद गायक द्वारा मनमोहक सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति से दर्शक झूमे।

मैनपाट के रोपाखार में तीन दिवसीय मैनपाट महोत्सव का समापन पर्यटन मंत्री ताम्रध्वज साहू के मुख्य आतिथ्य औरं संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत की अध्यक्षता में हुआ। पर्यटन मंत्री साहू ने संस्कृति मंत्री भगत की मांग पर मैनपाट में चिन्हांकित 14 नए पर्यटन पॉइंट में पहुंच मार्ग के साथ ही अन्य विकास कार्यों के प्रस्ताव को तत्काल स्वीकृति दी।

मंत्री साहू ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि मैनपाट सरगुजिहा, भोजपुरी और तिब्बती संस्कृतियों का त्रिवेणी संगम है। यहां पहाड़, झरने, नदी, इमारती लकड़ी, वनौषधि पौधों की समृद्धि ही नहीं बल्कि लोक कला और संस्कृति का गौरवशाली इतिहास भी है।

यही कारण है कि विश्व पर्यटन के नक्शे पर मैनपाट पर्यटकों का पहली पसंद है। उन्होंने कहा कि महोत्सव आयोजन का उद्देश्य विभिन्न संस्कृतियों व अपनी परंपराओं को सहेजने के साथ युवाओं को अवगत कराना और समझाना भी है।

मैनपाट की माटी में प्रभु राम के चरण रज मिले हुए हैं। इन सब कारणों से छत्तसीगढ़ शासन ने यहां के निवासियों को रोजगार के साधन और अवसर उपलब्ध कराने के लिए कमलेश्वरपुर में 21 करोड़ रुपए की लागत से एथनिक रिजॉर्ट कार्य कराया जा रहा है।

वन विभाग की ओर से भी यहां के पर्यटन पॉइंट में 3 करोड़ 50 लाख रुपए के विभिन्न विकास कार्य कराए जा रहे हैं। मंत्री साहू ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशा के अनुरूप छत्तीसगढ़ में पर्यटन स्थलों का विकास किया जा रहा है। इसके लिए पर्यटन नीति भी तैयार कर लिया गया हैं।

संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने कहा कि मैनपाट महोत्सव का उद्देश्य यहां के सीधे साधे लोगो की जीवन संस्कृति और लोककला को आगे बढ़ाने के साथ ही उन्हें रोजगार भी उपलब्ध कराना है। इस तीन दिवसीयआयोजन में लोगो ने मैनपाट को खूब अच्छी तरह से जाना और भरपूर मनोरंजन भी किया।

उन्होंने कहा कि मैनपाट मे पर्यटन विकास के लिए बुद्धिष्ट सर्किट में जोड़ने के लिए प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा गया है। समापन समारोह में छत्तीसगढ़ पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष थानेश्वर साहू, छ्त्तीसगढ़ खाद्य आयोग के अध्यक्ष गुरप्रीत सिंह बाबरा, पुलिस महानिरीक्षक आरपी साय, क्लेक्टर संजीव कुमार झा, मुख्य वन संरक्षक अनुराग श्रीवास्तव, पुलिस अधीक्षक टीआर कोशिमा सहित अन्य स्थानीय जनप्रतिनिधि वबड़ी संख्या में पर्यटक उपस्थित थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button