भगवान महावीर का जियो और जीने दो का संदेश समाज को जोड़ता है : मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री शामिल हुए भगवान महावीर जन्म कल्याणक महोत्सव में

रायपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि छत्तीसगढ़ की पावन धरा पर हजारों वर्षों से जैन धर्म का प्रभाव रहा है। भगवान महावीर का जियो और जीने दो और क्षमाशीलता का संदेश सामाजिक सद्भाव को और अधिक मजबूत बनाकर समाज को आपस में जोड़ता है। मुख्यमंत्री कल रात यहां जैन दादाबाड़ी में सकल जैन समाज संघ द्वारा आयोजित भगवान महावीर जन्म कल्याणक महोत्सव को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ में हजारों वर्षों से जैन धर्म का प्रभाव रहा है। इसके पुरातात्विक प्रमाण सिरपुर से सिली पचराही तक छत्तीसगढ़ के कई हिस्सों में मिले हैं। छत्तीसगढ़ में जैन धर्म के इतिहास को जानने के लिए अनुसंधान की आवश्यकता है।

मुख्यमंत्री ने महोत्सव को संबोधित करते हुए कहा कि यह छत्तीसगढ़ का सौभाग्य है कि यहां के जनजीवन पर भगवान महावीर सहित संत कबीर और बाबा गुरु घासीदास जैसे महापुरूषों का प्रभाव रहा है। इनके आशीर्वाद से ही छत्तीसगढ़ विकास की राह पर तेजी से आगे बढ़ रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के विकास में अन्य समाजों के साथ जैन समाज का भी महत्वपूर्ण योगदान है। उन्होंने समाज द्वारा समाज सेवा के क्षेत्र में किए जा रहे कार्यों की प्रशंसा की। डॉ. सिंह ने विशेष रूप से चिकित्सा शिविरों और निःशक्तजनों की सेवा के लिए समाज द्वारा किए जा रहे कार्यों का उल्लेख किया। इस अवसर पर प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री राजेश मूणत विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ने आयोजकों की ओर से समाज सेवा के क्षेत्र में विशिष्ट योगदान के लिए तिलोकचंद भंसाली को आजीवन संघ सेवा सम्मान और मोतीलाल झाबक को महामना अलंकरण से सम्मानित किया। उन्होंने वर्धमान मित्र मंडल और रायपुर सराफा एसोेसिएशन को भी समाज सेवा के कार्यों के लिए सम्मानित किया। महोत्सव आयोजन समिति के अध्यक्ष विजय चोपड़ा ने स्वागत भाषण दिया। इस अवसर पर महोत्सव आयोजन समिति के कार्यकारी अध्यक्ष कमल भंसाली, संयुक्त अध्यक्ष अतुल जैन, महासचिव जितेन्द्र गोलछा, कोषाध्यक्ष राजेश जैन और महिला समिति के अध्यक्ष साधना मूणत सहित समाज के अनेक पदाधिकारी और सदस्य बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

advt
Back to top button