शहीद के अंतिम संस्कार में नहीं आए मंत्री, पूछने पर कहा- कल जाके उनको जिंदा कर देते क्या?

विनोद सिंह पहली बार मीडिया की सुर्खियों में नहीं आए हैं। इससे पहले भी पिछले साल अगस्त में भारत माता की जय नहीं कहने वाले पत्रकारों को पाकिस्तान का समर्थक करार दिया था। उनके बयान के बाद मंत्री के खिलाफ केस दर्ज कराया गया था।

बिहार की नीतीश सरकार में भाजपा कोटे से मंत्री बने विनोद सिंह ने सीआरपीएफ के शहीद जवान मुजाहिद खान के अंतिम संस्कार में नहीं शामिल होने पर शर्मनाक बयान दिया है। समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए मंत्री ने कहा, “कल ही जाकर क्या फायदा होता, मैंने दिल से उनको सैल्यूट किया है और कल ही जाके क्या हम उनको जिंदा कर देते?”

बता दें कि विनोद सिंह राज्य के खनन मंत्री और भोजपुर के प्रभारी मंत्री भी हैं। इसी नाते उनसे उम्मीद की जा रही थी कि वो शहीद के अंतिम संस्कार में शामिल होंगे लेकिन वो कटिहार स्थित अपने घर पर बुधवार को पत्नी संग वेलेंटाइन डे मनाते नजर आए थे। पत्नी संग गुलाब लेकर वेलेंटाइन डे मनाते हुए उनकी तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही थी। विनोद सिंह कटिहार के प्राणपुर विधान सभा सीट से विधायक हैं।

[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”अगर आप पढ़ना नहीं चाहते तो क्लिक करे और सुने”]

हद तो तब हो गई जब मीडिया और सोशल मीडिया में खबर ने जोर पकड़ा तो गुरुवार (15 फरवरी) को मंत्री विनोद सिंह कटिहार से भोजपुर तो आए लेकिन इसकी भड़ास मीडियावालों पर ही निकालने लगे।

उन्होंने कहा, आपको पता ही नहीं है कि कटिहार से पीरो की दूरी 600 किलोमीटर है। हम 450 किलोमीटर का सफर तय करके आए हैं और अभी रास्ते में हैं, भोजपुर जा रहे हैं ताकि पीड़ित परिजन से मुलाकात कर सकें। उन्होंने कहा कि शहीद को कटिहार में ही उन्होंने सलामी दे दी थी।

गौरतलब है कि विनोद सिंह पहली बार मीडिया की सुर्खियों में नहीं आए हैं। इससे पहले भी पिछले साल अगस्त में भारत माता की जय नहीं कहने वाले पत्रकारों को पाकिस्तान का समर्थक करार दिया था। उनके बयान के बाद मंत्री के खिलाफ केस दर्ज कराया गया था।

मंत्री के इस बयान की सोशल मीडिया में निंदा हो रही है। लोग इसके लिए उनकी आलोचना कर रहे हैं। बुधवार को शहीद मुजाहिद खान का अंतिम संस्कार पीरो में कर दिया गया था।

कल ही उनके परिजनों ने नीतीश सरकार द्वारा दिया गया पांच लाख का चेक वापस कर दिया था और सरकारी नुमाइंदे को खरी-खोटी सुनाई थी। सोमवार को सीआरपीएफ कैम्प पर हमले के बाद आतंकियों से लोहा लेते हुए श्रीनगर के करण नगर में मुजाहिद खान शहीद हो गए थे।

new jindal advt tree advt
Back to top button