सुन्दर नगर में हुई मर्डर की गुत्थी सुलझी, चचेरा भाई ही निकला हत्यारा

2 करोड़ की फिरौती के लालच में 3 दोस्तों के साथ मिलकर दिया घटना को अंजाम

रायपुर : सुंदरनगर के ओम सोसाइटी में कल हुई मृतक प्रकाश शर्मा के हत्याकांड की गुत्थी को पुलिस ने 24 घंटे के भीतर ही सुलझा लिया है।दो करोड़ की फिरौती की योजना के के चलते पूरा षड्यंत्र रचा गया था। मामले में साजिशकर्ता मृतक का चचेरा भाई ही निकला, उसने अपने 3 दोस्तों के साथ मिलकर हत्या की घटना को अंजाम दिया।

सिटी ए एसपी विजय अग्रवाल ने बताया कि मृतक का चचेरा भाई इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन दिलाने के नाम पर मध्यस्थता का काम करता है, पिछले कुछ दिनों से अमृत शर्मा की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं चल रही थी इसलिए वह अपने चचेरे भाई का अपहरण कर दो करोड़ की फिरौती निकालना चाहता था, घटना को अंजाम देने से पहले ही अमृत ने अपने 3 दोस्तों के साथ मिलकर 1 महीने पहले ही योजना तैयार कर ली थी।

उन्होंने बताया कि आरोपियों ने इसके अलावा एक और योजना तैयार कर रखी थी, अगर यह योजना विफल हो जाती तो आरोपी बैंक में डकैती डालने की योजना में भी थे। हत्या के बाद पहले तो मृतक के चचेरे भाई ने पुलिस को घुमाया और तरह-तरह की कहानी बनाई लेकिन सख्ती से पूछताछ के बाद आरोपी ने कबूल कर लिया कि उसने अपने 3 दोस्तों के साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया है। चारों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

Back to top button