फलाइंग सिक्‍ख के नाम से विख्‍यात मिल्‍खा सिंह को राष्‍ट्र श्रद्धांजलि दे रहा है।

उनका कल रात निधन हो गया था। अंतिम संस्‍कार आज शाम

फ्लाइंग सिख के नाम से विख्‍यात पद्मश्री से सम्मानित महान भारतीय धावक मिल्‍खा सिंह का कल रात निधन हो गया। वे 91 वर्ष के थे और पिछले एक महीने से कोविड संक्रमण से ग्रस्‍त थे। मोहाली के फोर्टिस अस्‍पताल में उपचार के बाद उन्‍हें इस महीने की तीन तारीख को चंडीगढ के चिकित्‍सा शिक्षा और अनुसंधान संस्‍थान अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था।

भारतीय धावक मिल्‍खा सिंह का अंतिम संस्‍कार आज शाम को किया जाएगा। पूरा राष्‍ट्र मिल्खा सिंह को श्रद्धांजलि दे रहा है।

राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिग्‍गज धावक मिल्‍खा सिंह के निधन पर शोक व्‍यक्‍त किया है। एक ट्वीट में राष्‍ट्रपति ने कहा कि मिल्‍खा सिंह के जाने से वे काफी आहत हैं। उन्‍होंने कहा कि मिल्खा सिंह का संघर्ष और संकल्प भारतीयों के लिए प्रेरणास्रोत बना रहेगा।

उपराष्‍ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने एक ट्वीट में कहा कि अपने शानदार प्रदर्शन से विश्‍व स्‍तर पर विख्‍यात मिल्‍खा सिंह ने प्रत्‍येक भारतीय को प्रेरित किया, आगे भी उनका जीवन भारतीय खिलाडियों के लिए प्रेरणास्रोत बना रहेगा। श्री नायडू ने उनके परिजनों और प्रशंसकों के प्रति संवेदना व्‍यक्‍त की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फ्लाइंग सिख के नाम से विख्यात मिल्खा सिंह के निधन पर शोक व्यक्त किया है। प्रधानमंत्री ने कुछ दिन पहले ही मिल्खा सिंह से बात की थी। श्री मोदी ने एक ट्वीट में कहा कि मिल्खा सिंह के जाने से देश ने एक महान खिलाड़ी खो दिया है। श्री मोदी ने कहा कि वे लाखों लोगों के लिए प्रेरणास्रोत थे। कई उभरते खिलाडियों को उनकी जीवन यात्रा से प्रेरणा मिलेगी।

गृह मंत्री अमित शाह ने भी एक ट्वीट में कहा कि मिल्‍खा सिंह ने खेल जगत में अमिट छाप छोड़ी है। उन्‍होंने कहा कि राष्‍ट्र उन्‍हें हमेशा भारतीय खेल जगत के चमकते सितारे के रूप में याद रखेगा।

सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने महान धावक मिल्‍खा सिंह के निधन पर शोक व्‍यक्‍त किया है।

केन्‍द्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने मिल्‍खा सिंह के निधन पर गहरा दुख व्‍यक्‍त किया है। एक ट्वीट में श्री रिजिजू ने कहा कि भारत ने खेल जगत की एक अनमोल हस्ती को खो दिया है। उन्‍होंने कहा कि मिल्‍खा भले ही हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन वे हमेशा सबके लिए प्रेरणास्रोत बने रहेंगे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button