ई-कॉमर्स की नई FDI नीति से छोटे विक्रेताओं को डर, नियमों का तोड़ निकालेंगी कंपनी

बड़े मार्केटप्लेस इन प्रतिबंधों की काट ढूंढ लेंगे क्योंकि वे पहले भी ऐसा कर चुके हैं

नई दिल्ली

ई-कॉमर्स प्लैटफॉर्म के छोटे विक्रेताओं को डर है कि ई-कॉमर्स की नई एफडीआई नीति से भी उनकी सारी शिकायतें दूर नहीं होंगी। उन्हें लगता है कि बड़े मार्केटप्लेस इन प्रतिबंधों की काट ढूंढ लेंगे क्योंकि वे पहले भी ऐसा कर चुके हैं।

सेलर्स की दलील है कि नए सख्त नियमों का मकसद उनके कारोबार की हिफाजत करना है। हालांकि, अगर कोई ऑनलाइन कंपनी इनका पालन नहीं करती है तो उस पर जुर्माना लगाने का कोई प्रावधान नहीं है।

बेंगलुरु की इलेक्ट्रॉनिक्स और असेसरीज ऑनलाइन विक्रेता कार्ट2इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर आदिल सलीम का कहना है, ‘पॉलिसी का सारा दारोमदार उसके अमल पर टिका है। हमें इसी बात की फ्रिक है कि इसे सही तरीके से लागू किया जाएगा या नहीं।’

Back to top button