निर्वाचन की कानूनी एवं तकनीकी पहलुओं की बारीकियों को पुलिस अधिकारियों ने समझा

पुलिस अधिकारियों का रेंज स्तरीय प्रषिक्षण संपन्न

अम्बिकापुर: लोकसभा निर्वाचन 2019 की तैयारियों को लेकर अधिकारियों एवं कर्मचारियों को सतत प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इसी कड़ी में सरगुजा रेंज मुख्यालय अम्बिकापुर स्थित रक्षित केन्द्र के सभाकक्ष में 22 एवं 23 फरवरी 2019 को  पुलिस अधिकारियों की दो दिवसीय रेंज स्तरीय कार्यशाला का आयोजन किया गया है। इस कार्याशाला के प्रथम दिवस आज रेंज के पुलिस अधिकारियों को निर्वाचन की कानूनी एवं तकनीकी पहलुओं से अवगत कराते हुए विस्तृत जानकारी दी गई। इस कार्यशाला को संबोधित करते हुए सरगजा के रेंज के पुलिस महानिरीक्षक हिमांशु गुप्ता ने कहा कि शांतिपूर्ण निष्पक्ष एवं भयमुक्त निर्वाचन के लिए सुरक्षा बलों की अहम भूमिका है।

उन्होंने कहा कि निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशानुसार पुलिस जिला प्रशासन तथा आम नागरिकों से बेहतर समन्वय कर अपने दायित्वों का निर्वहन करें। हिमांशु गुप्ता ने कहा कि निर्वाचन के संबंध में पुलिस के लिए जारी दिशा-निर्देशों तथा आचार संहिता की अनुपालन के संबंध में जानकारी राज्यस्तरीय मास्टर ट्रेनर्स के द्वारा दी जाएगी। सभी अधिकारी प्रशिक्षण की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए जानकारी से अवगत हों।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक आर.के.साहू ने प्रोजेक्टर के माध्यम से निर्वाचन के दौरान पुलिस बल की तैनाती,क्रमबद्ध योजना,त्रिस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था, संवेदनशील मतदान केन्द्रों की जानकारी,कानूनी प्रावधान, आचार संहिता वीआईपी तथा वीवीआईपी की सुरक्षा व्यवस्था एवं प्रत्याशियों की सुरक्षा व्यवस्था की जानकारी दी।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय रायपुर के सहायक मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी आशीष टिकरिहा,राज्य स्तरीय मास्टर ट्रेनर एवं अनुविभागीय दण्डाधिकारी सीतापुर अतुल शेट्टे, राज्य स्तरीय मास्टर ट्रेनर उमेश साहू,जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनर सहायक प्राध्यापक यू.स.मिश्रा तथा डॉ.रिजवान उल्ला द्वारा निर्वाचन में पुलिस की भूमिका, कर्तव्य,दायित्व,आचार संहिता, ईव्हीएम एवं व्हीव्हीपैट परिचालन के संबंध में विस्तृत जानकारी दी गई।

 

सहायक मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी आशीष टिकरिहा एवं राज्य स्तरीय मास्टर ट्रेनर अतुल शेट्टे ने बताया कि निर्वाचन प्रबंधन के लिए जिला स्तरीय जिला निर्वाचन प्रबंधन योजना तैयार किया जाता है। निर्वाचन प्रबंधन के दो पहलुओं में निर्वाचन कराना और सुरक्षा प्रदान करना है। उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा मतदाता सूची तैयार करने से लेकर मतदान कर्मियों तथा अधिकारियों को प्रषिक्षण दिलवाने का कार्य किया जाता है।

उन्होंने बताया कि निष्पक्ष, निर्विघ्न एवं भयमुक्त निर्वाचन के लिए सीसीटीवी कैमरा सहित मोबाईल एप्लीकेशन,सी-विजिल एवं अन्य तकनीक विकसित की गई है जिनका बेहतर प्रयोग आवष्यक है। इस दौरान उन्होंने बताया कि मतदान की गोपनीयता बरकरार रखने के लिए मतदान केन्द्रों में मोबाईल ले जाने पर प्रतिबंध रहेगी।

मतदान केन्द्रों में तैनात सुरक्षाकर्मी मतदाताओं से मतदान केन्द्र के अंदर मोबाईल न ले जाने हेतु सख्ती बरतें। राज्य स्तरीय मास्टर ट्रेनर उमेश साहू ने मतदान केन्द्रों में प्रवेष हेतु अधिकृत अधिकारी, मतदान केन्द्रों तथा नाम-निर्देशन के समय वाहनों के प्रवेश,मतगणना स्थल तथा ईव्हीएम एवं व्हीव्हीपैट की सुरक्षा के सबंध में विस्तार से जानकारी दी।    

Back to top button