जिले के सरकारी अस्पतालों में आक्सिजन सुविधा युक्त वाले बेड की संख्या 500 से बढकर 700 होगी

अस्पताल व होम आइशोलेशन में रहने वाले मरीजों को मानसिक स्वास्थ्य की सुविधाएं भी

दुर्ग: जिले में लगातार बढ़ रहे कोरोना मरीजों की संख्या तथा इससे निपटने के लिए अब जिले के सरकारी अस्पतालों में आक्सिजन सुविधा युक्त वाले बिस्तरों की संख्या में बढ़ोतरी की जा रही है| इस तरह के बेड की संख्या 500 से बढ़ाकर 700 करने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है|

इतना ही नहीं जिला प्रशासन ने अस्पताल व होम आइशोलेशन में रहने वाले मरीजों को मानसिक स्वास्थ्य की सुविधाएं भी दी जाएगी| मरीजों के अस्पताल में होने वाले मानसिक दबाव को कम करने के लिए परिजनों से मोबाइल पर बात करने की सुविधाएं भी प्रदान करने पर विचार किया जा रहा है।

मरीजों की संख्या के साथ ही उपचार के लिए पहुंचने वाले गंभीर मरीजों को ऑक्सीजन सपोर्ट वाले बेड की जरुरत पड़ रही है जिसके लिए प्रशासन द्वारा प्रयास किया जा रहा है।स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में कोरोना के 18,374 से अधिक सक्रिय केस हैं। वहीं होम आइसोलेशन में रहने वालों की संख्या भी 22,869 से अधिक है। जिले में आज 4342 लोगों की कोरोना सेंपल जांच की गई जिसमें 1786 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले जबकि अस्पताल में इलाज के दौरान आज 14 लोगों की मौत हुई है। 315 मरीज स्वस्थ्य होकर डिस्चार्ज हुए हैं।

सीएमएचओ डॉ गम्भीर सिंह ठाकुर ने बताया, जिला प्रशासन द्वारा चंदुलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन सुविधा युक्त बेड को बढाकर 115 किया जा रहा है। शंकराचार्य कोविड सेंटर में 10 बेड, झीट में 25 बेड, सुपेला में 50 बेड सहित अन्य सरकारी अस्पतालों में 700 ऑक्सीजन बेड की संख्या निरंतर बढाने का प्रयास किया जा रहा है। वर्तमान में सरकारी अस्पतालों में करीब 500 ऑक्सीजन बेड हैं। वहीं वेंटिलेटर की संख्या 36 है। कोरोना इलाज के लिए अधिकृत जिले के निजी अस्पतालों में 234 ऑक्सीजन बेड और 50 वेंटिलेटर हैं। आक्सिजन सपोर्ट वाले बेड की संख्या बढ़ाने से अति गंभीर कोरोना मरीजों को राहत मिलेगी। सीएमएचओ डॉ गम्भीर सिंह ठाकुर ने सुविधाएं बढाने के लिए समीक्षा बैठक भी ली है जिसमें तय हुआ कि चरणबद्व तरीके से ऑक्सीजन बेड की संख्या को पहले आवश्यकतानुसार बढाया जाए।

जिले में टीकाकरण की स्थिति –

जिले में कोरोना के बढते संक्रमण को थामने के लिए 268 सरकारी व 22 निजी अस्पतालों में वैक्सीनेशन किया जा रहा है । 16 जनवरी से 9 अप्रैल तक फ्रंट लाइन वर्कर, हेल्थ वर्कर, 60 व 45 से अधिक उम्र के आज तक 3.30 लाख हितग्राहियों को टीके लग गए हैं। अब तक हेल्थ वर्कर को प्रथम डोज 18913व द्वितीय डोज 14197, फ्रंट लाइन वर्कर को प्रथम डोज 20618 व द्वितीय डोज 12048 , वृद्वजनों में 60 वर्ष से अधिक उम्र को प्रथम डोज 1,10,094 व द्वितीय डोज 4088 और 45 से अधिक उम्र को प्रथम डोज 1,48,906 व द्वितीय डोज 969 सहित कुल 3,29,833 लोगों को टीके लगाए जा चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार आज सरकारी व प्राइवेट टीकाकरण केंद्रों में 60 से अधिक उम्र के 3358 लोगों , 45 से अधिक उम्र के 10,714 लोगों, हेल्थ वर्कर 70 लोगों को और फ्रंट लाइन वर्कर 201 सहित कुल 14,343 हितग्राहियों को टीके लगाए गए हैं। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ सुदामा चंद्राकर ने बताया, स्वास्थ्य विभाग से मिले निर्देश के अनुसार हेल्थ वर्कर व फ्रंट लाइन वर्कर जिनका टीकाकरण छुटे हुए हैं उनका ऑन साइट पंजीकरण केवल शासकीय कोविड वैक्सीनेशन सेंटर में किया जाएगा ।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button