मुख्यमंत्री के पुराने दोस्त ने लगाई गुहार, इस मामले में की हस्तक्षेप करने की मांग

स्वास्थ्य केंद्र को लेकर नरेंद्र कुमार सिंह ने अपने मुख्यमंत्री दोस्त से गुहार लगाई

पटना:पिछले कई वर्षों से मैना गांव में स्थित उप स्वास्थ्य केंद्र बंद पड़ा है और खंडहर में तब्दील हो चुका है. इससे स्वास्थ्य केंद्र पर ना तो डॉक्टर और नर्स आते हैं ना तो लोगों को दवाइयां मिलती है.

अपने इलाके में बंद पड़े इससे स्वास्थ्य केंद्र को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पुराने दोस्त और इंजीनियरिंग कॉलेज के उनके साथी नरेंद्र कुमार सिंह ने उनसे गुहार लगाई है कि वह इस पूरे मामले में हस्तक्षेप करें और उनके गांव समेत बिहार में जितने भी स्वास्थ्य केंद्र बंद पड़े हैं उन सब को चालू करवाया जाए.

टीम मंगलवार को नरेंद्र कुमार सिंह के गांव पर पहुंची और स्वास्थ्य केंद्र का जायजा लिया. यह स्वास्थ्य केंद्र मौजूदा समय में लगभग खंडहर में तब्दील हो चुका है. स्वास्थ्य केंद्र की दीवारों में दरार आ चुकी है और छत का कई हिस्सा भी टूट चुका है. बंद पड़े इस स्वास्थ्य केंद्र के कमरों में सरकारी दस्तावेज और टूटी फूटी कुर्सियां और टेबल बिखरे पड़े हैं.

इस स्वास्थ्य केंद्र की हालत इतनी खराब हो चुकी है कि इसके परिसर में रखरखाव की कमी की वजह से कई जंगली पेड़ पौधे उग चुके हैं और स्थानीय लोगों की मानें तो इस में से सांप और बिच्छू भी निकलते हैं. बंद पड़े स्वास्थ्य केंद्र को लेकर नरेंद्र कुमार सिंह ने अपने मुख्यमंत्री दोस्त से आग्रह किया है कि वह इसे शुरू करवाएं.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button