Sridevi के निधन का शोक इस तरह से माना रहा ये शख्स

24 फरवरी की रात बॉलीवुड की मशहूर अदाकारा श्रीदेवी का 54 साल की उम्र निधन हो गया था। उन्होंने दुबई में आखिरी सांस ली। कोई भी उनके जाने पर यकीन नहीं कर पा रहा है।

नई द‍िल्‍ली. 24 फरवरी की रात बॉलीवुड की मशहूर अदाकारा श्रीदेवी का 54 साल की उम्र निधन हो गया था। उन्होंने दुबई में आखिरी सांस ली। कोई भी उनके जाने पर यकीन नहीं कर पा रहा है।

जहां एक तरह उनके पत‍ि बोनी कपूर उनकी अस्‍थ‍ियां व‍िसर्ज‍ित करने रामेश्‍वरम गए थे, वहीं दूसरी तरफ एक शख्‍स ने अपना स‍िर मुंडवाया ऐसा करने वाले शख्‍स का नाम है ओमप्रकाश मेहरा, जोक‍ि मध्य प्रदेश के श्योपुर में रहने वाले हैं

खबर के मुताब‍िक, ओमप्रकाश मेहरा मन से श्रीदेवी को पत्नी मान चुके थे। उनके न‍िधन पर उन्‍होंने ददुनि ग्राम के स्कूल में श्रद्धाजंली सभा का आयोजन किया। यहां उन्होंने अपना मुंडन करवाकर श्रीदेवी की तस्वीर पर फूल माला चढ़ाई, जिसमे पूरा गांव शामिल हुआ।

साल 2002 में ओमप्रकाश मेहरा ने वोटर लिस्ट में अपनी पत्नी का नाम श्रीदेवी दर्ज करा लिया था। वह श्रीदेवी को 3 हजार से ज्यादा पत्र भेज चुके थे। पर वह कभी भी श्रीदेवी से मिल नहीं सके। ओम प्रकाश जब स्कूल में पढ़ते थे तभी पहली बार श्रीदेवी की फिल्म देखी थी, तब से वे उनके फैन हो गए थे।

उसने बताया कि ओमप्रकाश ने चार दिन तक को श्रीदेवी की मौत के गम में कुछ भी नहीं खाया। ओमप्रकाश ने श्रीदेवी से शादी करने की चाह में शादी भी नहीं की थी। ओमप्रकाश का कहना है कि जवानी के दिनों में श्रीदेवी को पत्नी मान लिया था, ऐसे में किसी और से दूसरी शादी वो कैसे कर सकते थे ।

जब श्रीदेवी के निधन की खबर ओमप्रकाश को मिली, तभी से उन्होंने खाना-पीना छोड़ दिया। ओमप्रकाश ने श्रीदेवी से शादी करने की ठान रखी थी और इसी वजह से उन्होंने आज तक शादी नहीं की। ओमप्रकाश के दोस्त ने बताया कि उसने अपनी मां के श्राद्ध में मुंडन नहीं कराया लेकिन श्रीदेवी की मौत पर सिर मुंडवाया।

ओमप्रकाश ने श्रीदेवी से शादी करने की चाह में शादी भी नहीं की थी। ओमप्रकाश का कहना है कि जवानी के दिनों में श्रीदेवी को पत्नी मान लिया था, ऐसे में किसी और से दूसरी शादी वो कैसे कर सकते थे।

ओमप्रकाश के दोस्त ने बताया कि उसने अपनी मां के श्राद्ध में मुंडन नहीं कराया लेकिन श्रीदेवी की मौत पर सिर मुंडवाया। उसने बताया कि ओमप्रकाश ने चार दिन तक को श्रीदेवी की मौत के गम में कुछ भी नहीं खाया। ओमप्रकाश ने तीन हजार से ज्यादा खत श्रीदेवी को लिखे थे।

श्रीदेवी के जाने से उनका पर‍िवार, पूरा बॉलीवुड और उनके फैंस गमगीन हैं।

Back to top button