राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष ने पक्षकारों की सुनी फरियाद आठ प्रकरणों में एक प्रकरण नस्तीबद्ध किया गया

राज्य महिला आयोग

मुंगेली/ छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष श्रीमती हर्षिता पाण्डेय और राज्य महिला आयोग की सदस्य डॉ. ममता साहू ने आज बुधवार को कलेक्टोरेट स्थित मनियारी सभाकक्ष में पीड़ित पक्षकारों की फरियाद सुनी तथा संबंधित अधिकारियों को कार्यवाही हेतु आवश्यक निर्देश दिये। महिला आयोग की अध्यक्ष और सदस्य के समक्ष सुनवाई हेतु 8 प्रकरण रखे गये। इनमें टोनही प्रताड़ना, हत्या, दहेज प्रताड़ना, मारपीट एवं मानसिक प्रताड़ना के प्रकरण शामिल है। मुंगेली जिले के तहसील लोरमी के ग्राम झझपुरी की हीरादेवी साहू के प्रकरण में सुनवाई की गई। श्रीमती पाण्डेय ने प्रकरण में परिस्थिति को देखते हुए सुनवाई हेतु प्रकरण रायपुर स्थानांतरित किया गया।

इस प्रकार प्रकरण नस्तीबद्ध किया गया। इस मौके पर अपर कलेक्टर राजेश नशीने, अपर कलेक्टर सुश्री रेखा बंसवार विशेष रूप से उपस्थित थे।राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष ने ग्राम जरहागांव की श्रीमती सीता कश्यप पति स्व. अजय कश्यप, ग्राम खैराखुर्द पुलिस चौकी चिल्फी की श्रीमती सुधईया बाई दीवाकर पति शिवबगस के प्रकरण में अनावेदकों को समझाईश दी गई। ग्राम नवागांव के सिद्धू ध्रुव पिता महेत्तर ध्रुव के प्रकरण में पक्षकारों को सुना। ठक्करबापा वार्ड मुंगेली की सहोदरा बाई यादव पिता फुदु राम के प्रकरण में मुख्य नगर पालिका अधिकारी को अगली बैठक में उपस्थित होने कहा गया ताकि सुनवाई किया जा सके।

विकासखण्ड मुंगेली के ग्राम उमरिया के गेंदराम ध्रुव सिराती राम को समझाईश दी गई। इसी तरह ग्राम दाड़ीपारा दाउकापा पुलिस चौकी चिल्फी की श्रीमती अंकिता तिवारी के प्रकरण में अनावेदक दिनेश तिवारी को बिलासपुर बुलाया गया। उन्होने मीडिया प्रतिनिधियों से महिला प्रताड़ना और बालिकाओं के प्रति होने वाले अपराध के संबंध में चर्चा की तथा उनके द्वारा अपराध नियंत्रण हेतु पहल की गई। इस मौके पर जिला महिला बाल विकास अधिकारी एवं महिला समिति के अशासकीय सदस्य उपस्थित थे।
<>

Back to top button