छत्तीसगढ़

जामपाली कोयले की खदान में पार्किंग की समस्या से मिली राहत

रायगढ़ : कोयले की खदान जामपाली में लगातार समस्याएं को देखते हुए जिला प्रशासन ने हरकत में आकर जामपाली एसईसीएल प्रबंधन और बरौद एसईसीएल प्रबंधन के साथ बैठक की। घरघोड़ा ऑफिस पर हुई सामूहिक में पार्किंग की उचित व्यवस्था करने का निर्णय लिया गया। बैठक के बाद गुरुवार को तत्काल भूमि पूजन कर पार्किंग की व्यवस्था की गई।
बैठक में खनिज विभाग पर्यावरण विभाग राजस्व विभाग और पुलिस प्रशासन मौजूद रहे। स्पष्ट निर्देश रहा कि, जल्द से जल्द जामपाली कोयले खदान में नेशनल हाइवे में खड़ी ट्रकों की वजह से आम जनता को होने वाली दिक्कतों का समाधान किया जाए। इस कारण ही आवागमन और घरघोड़ा से धरमजयगढ़ पत्थलगांव मार्ग में संपर्क टूट गया था। यह समस्या पिछले कई दिनों से चल रही थी। बैठक रखकर भूमि पूजन कर पार्किंग की व्यवस्था की गई है तथा धीरे-धीरे जामपाली की अन्य समस्याएं भी सुधार ली जाएगी। ऐसा एसईसीएल प्रबंधन का कहना है।

जल्द दूर होगी अवैध परिवहन की समस्या : कोयले के गोरखधंधे और अवैध रूप से बिना अनुमति के घुस रही गाडिय़ों पर भी नकेल कसी गई है। इससे कि हड़कंप मचा हुआ है। जामपाली के प्रबंधन ने एसईसीएल के नियमानुसार पालन करने की ठान ली है और कोयले के अवैध परिवहन और अन्य समस्याओं को भी जल्द से जल्द दूर किया जाएगा। देखना अब यह है कि, जामपाली बरोद प्रबंधन के ऊपर जिम्मेदारी इतनी है कि, कब तक यह वहां की व्यवस्था में सुधार लाते हैं या फिर कुछ दिन बाद पुन: समस्याएं अपना रूप लेकर उभरने लगेंगी।

प्रबंधन के सामने है चुनौती :एसईसीएल प्रबंधन पर के सामने यह एक बड़ी चुनौती है क्योंकि कुछ ट्रांसपोर्टरों का दबाव इतना ज्यादा है कि अगर एसईसीएल के नियम कानून के अनुसार पालन किया जाएगा तो कुछ ट्रांसपोर्टर को रास नहीं आएगा और वह इस कोशिश में लगे रहेंगे कि एसईसीएल का नियम का पालन ना हो।

विभाग रखेगा नजर : घरघोड़ा थाना प्रभारी अरुण नेताम कहा कि, ट्रांसपोर्टरों को चेताया है कि अगर परिवहन विभाग और खनिज विभाग का पालन ठीक से नहीं हुआ तो कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी। परिवहन एक्ट के तहत जिन गाडिय़ों में थ्री एक्सेल है उसका उपयोग करें और जो स्पीड गाडिय़ों की परिवहन विभाग की ओर से अगर निर्धारित है तो उसका भी पालन हो।

Related Articles

Leave a Reply