शनिचरी बाजार के रपटा को बड़ा पुल बनाने तीसरी बार बन रहा प्रस्ताव

अंकित मिंज

बिलासपुर।

शहर के मध्य में अरपा नदी पर पहला रपटा पुल शनिचरी बाजार में बनाया गया। इस रपटा पुल को बड़ा पुल बनाने के लिए लोक निर्माण विभाग सेतु संभाग ने दो बार प्रस्ताव बना कर राज्य शासन को भेजा। लेकिन दोनों बार इस रपटे को बजट में शामिल नहीं किया गया। अब फिर इसे बड़े पुल बनाने के लिए बजट में शामिल करने का प्रस्ताव भेजने की तैयारी है।

अरपा नदी पर अविभाजित मध्य प्रदेश में शनिचरी बाजार से चांटीडीह को जोडऩे वाले रपटा पुल का निर्माण किया गया था। यह पुल वर्ष 1987-88 में तैयार किया गया। ताकि यातायात का दबाव शहर के अन्य पुलों पर कम हो सके। इसके साथ ही चांटीडीह समेत साइंस कालेज की दूरी कम हो सके। यह रपटा 30 अप्रैल 1988 को पूरा हुआ था।

शनिचरी बाजार में बने 12 मीटर चौड़ा रपटा: शनिचरी बाजार में बने रपटे की चौड़ाई 12 मीटर है। इसकी लम्बाई 325.50 मीटर है। इस रपटा का पाया (बाक्स) की संख्या 47 है। इसके एक से दूसरे पाए की दूरी 6.892 मीटर पर बनाया गया है।

दो बार प्रस्ताव पर शामिल नहीं

लोक निर्माण विभाग सेतु संभाग ने इस रपटा को बड़े पुल बनाने का प्रस्ताव भेजा था। प्रस्ताव वर्ष 2017-18 व 2018-19 में भेजा गया । लेकिन दोनों वर्ष प्रस्ताव को राज्य शासन ने बजट में शामिल नहीं किया। इसके बाद विभाग की तरफ से अब तीसरे बार फिर वर्ष 2019-2020 के बजट में शामिल करने भेजा जाएगा।

यातायात का दबाव बढ़ा: रपटा पर लगातार हर वर्ष यातायात का दबाव बढ़ रहा है। हल्के वाहनों की तादाद लगातार बढ़ गई है। इसके साथ ही यातायात के दौरान लगातार जाम की स्थिति बनीं रहती है। साथ ही वर्तमान रपटे की चौड़ाई यातायात के लिहाज से छोटा पड़ रहा है।

new jindal advt tree advt
Back to top button