छत्तीसगढ़

कटघोरा नगरीय निकाय चुनाव में जनता चुन सकती है नया चेहरा, इस बार बदलाव की स्थिति

अरविंद शर्मा:

कटघोरा: इस बार कटघोरा की जनता नगरीय निकाय चुनाव में अध्यक्ष नया चेहरा चुन सकती है।पुराने चेहरों को देखते सालो बीत गए लेकिन नगर विकास की बजाय पतन की ओर अग्रसर है, जो शासन की तमाम सुविधाओ से कटघोरवासी वंचित महशूस कर रहे हैं।

जैसा कि हम सब को ज्ञात है कि विधानसभा चुनाव में कटघोरा को जिला बनाये जाने की बात कही गई थी, लेकिन वो सिर्फ चुनावी जुमले ही साबित हुए। कटघोरा के समस्याओं की अगर बात करे तो शायद पांच साल भी कम पड़ जाए। यहाँ के सड़को की दुर्दशा किसी से छिपी नही है जो जिमेदार सरकार व प्रतिनिधि सीना ताने कटघोरा की जनता के सब्र का इन्तजार कर रहे हैं।जनता बड़ी उम्मीद से प्रतिनिधि चुनाव करती है,लेकिन जब वे उनकी उम्मीदों पर खरा नही उतरते तो जनता अपने आप को ठगा सा महशूस करने लगती है।

कटघोरा तमाम उन सुविधाओं से हमेशा वंचित रहा है जब कटघोरावसीयो को स्वास्थ्य सुविधा के लेकर अस्पताल की जरूरत महशूस हुई है, तब केवल करोड़ो की बिल्डिंग खड़ी कर दी गई है लेकिन ईलाज तो कोरबा और अन्य स्थानों पर ही मिलता है। जब यहाँ के बच्चों की पढ़ाई की बात आती है तो वे भी अच्छे स्कूल और कॉलेज के लिए भटकते ही नजर आए हैं। न तो आज तक बिजली व्यवस्था सुधर पाई और न ही घरों तक पानी पहुँच सका।

इन सबके बीच हर पांच साल में आते चुनाव, वही चेहरे, वही वादे, वही ढकोसले आखिर कब तक निर्दोष जनता इनके बहकावे का शिकार होते रहेगी।अब तो पुराने चेहरों से भरोसा ही उठ गया है।अब जनता ने मन बनाया है शायद नया चेहरा ही कटघोरा को विकास की गति प्रदान कर सकता है।

Tags
Back to top button