विश्व में उभरते ट्रेंड्स को समझना फोरम का उद्देश्य -पीएम मोदी

मोदी ने एफ़आईआई फोरम को संबोधित करते हुए कहा

रियाद:प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सऊदी अरब की एक दिन की आधिकारिक यात्रा के दौरान सऊदी किंग सलमान बिन अब्दुलअजीज अल-सऊद से मुलाकात की. किंग सलमान ने भारतीय प्रधानमंत्री के सम्मान में दोपहर के भोज की मेजबानी की.

मोदी ने फ्यूचर इनीशिएटिव इन्वेस्टमेंट (FII) फोरम को संबोधित करते हुए कहा कि इस फोरम का उद्देश्य सिर्फ यहां के अर्थतंत्र की चर्चा करना नहीं है बल्कि विश्व में उभरते ट्रेंड्स को समझना और उसमें विश्व कल्याण के रास्ते ढूंढना भी है.

बिजनेस फ्रेंडली सरकार देने के लिए प्रतिबद्ध

पीएम मोदी ने कहा कि वह बिजनेस फ्रेंडली सरकार देने के लिए प्रतिबद्ध हैं. भारत ने अगले पांच वर्ष में अपनी इकॉनमी को दोगुनी करके 5 ट्रिलियन डॉलर करने का लक्ष्य रखा है. आज भारत में हम विकास को गति देना चाहते है तो हमें उभरते ट्रेंड्स को समझना होगा.

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा, “आज मैं आपसे ग्लोबल बिजनेस को प्रभावित करने वाले पांच बड़े ट्रेंड्स के बारे में बात करना चाहूंगा. आज भारत में शोध एवं विकास से लेकर टेक-एंटरप्रेन्योरशिप का एक इको-सिस्टम तैयार हो रहा है.

इंफ्रास्ट्रक्चर एक अवसर गुणक

हमारे इन प्रयासों के नतीजे भी आना शुरू हुए हैं. इंफ्रास्ट्रक्चर एक अवसर गुणक है. इंफ्रास्ट्रक्चर बिजनेस को निवेश के व्यापक अवसर देता है. तो दूसरी और बिजनेस की वृद्धि के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर आवश्यक है.”

पीएम मोदी ने कहा, “वन नेशन, वन पावर ग्रिड, वन नेशन, वन गैस ग्रिड और वन वॉटर ग्रिड, वन नेशन, वन मोबिलिटी कार्ड और वन नेशन, वन ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क ऐसे अनेक प्रयासों से हम भारत के इंफ्रास्ट्रक्चर को इंट्रीग्रेट कर रहे हैं.

भारत में गैस और तेल के इंफ्रास्ट्रक्चर में बड़ी मात्रा में निवेश बढ़ा रहे हैं. वर्ष 2024 तक हमारा रिफाइनिंग, पाइपलाइंस, और गैस टर्मिनल में 100 अरब डॉलर तक के निवेश का लक्ष्य है. पिछले पांच साल में कई सुधार किए हैं, भारत में 286 अरब डॉलर का FDI निवेश हुआ है. ”

Back to top button