मुद्रा लोन पर हुए सवाल खड़े,गड़बड़ी की आशंका,जांच करने को तैयार वित्त मंत्रालय

एनपीए को रोकने में लगे वित्त मंत्रालय और बैंकों के सामने रणनीति को लेकर चुनौती

ई दिल्लीः मुद्रा लोन में बढ़ते एनपीए ने सरकार की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। मुद्रा लोन का एनपीए अब 14 हजार 358 करोड़ का हो चुका है, यानी इस लोन को चुकाए जाने की संभावना बहुत कम है। यह राशि एनपीए के आंकड़े को और बढ़ाएगी। एनपीए को रोकने में लगे वित्त मंत्रालय और बैंकों के सामने रणनीति को लेकर चुनौती है।

इस मामले में बैंकों ने सरकार और आरबीआई को साफ तौर पर बता दिया है कि मुद्रा लोन में एनपीए और बढ़ सकता है। बैंकों को सरकार और आरबीआई के अगले निर्देश का इंतजार है। सूत्रों के अनुसार बढ़ते एनपीए ने मुद्रा लोन देने के तौर तरीकों पर भी सवाल खड़े कर दिए हैं। लोन देने में भी गड़बड़ी की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता। वित्त मंत्रालय इस नजरिए से भी जांच करने की तैयारी में है।

advt
Back to top button