खेल

मूंछ के सवाल’ पर काट रहे हैं नाम, मंत्रालय ले जिम्मेदारी : बत्रा

नई दिल्लीः भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) ने राष्ट्रमंडल खेलों के लिए अधिकारियों के दल में कांट-छांट पर कड़ा रवैया अपनाते हुए आज यहां कहा कि ‘मूंछ के सवाल’ पर खेलों से अनजान अधिकारी नाम काट रहे हैं और अगर भारत का प्रदर्शन खराब रहता है तो खेल मंत्रालय और भारतीय खेल प्राधिकरण को इसकी जिम्मेदारी लेनी होगी। आईओए ने खेल मंत्रालय के पास के चार से 15 अप्रैल तक होने वाले गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों के लिए 222 खिलाडिय़ों के अलावा कोच और मैनेजरों सहित 95 अन्य अधिकारियों के नाम भेजे थे। रिपोर्टों के अनुसार खेल मंत्रालय ने इनमें से 21 अधिकारियों के नाम काट दिए हैं जिनमें कुछ कोच और मैनेजर भी शामिल हैं।

इस नए घटनाक्रम के बाद खेल मंत्रालय और आईओए में फिरे से टकराव की स्थिति पैदा हो गई है। आईओए अध्यक्ष नरिंदर ध्रुव बत्रा ने मंत्रालय के फैसले की कड़ी आलोचना करते हुए इसे ‘दुर्भाग्यपूर्ण’ करार दिया। बत्रा ने आज यहां राष्ट्रमंडल खेलों के लिए भारतीय दल के आधिकारिक रवानगी कार्यक्रम के दौरान संवाददाताओं से कहा,‘‘हमें पता चला है कि 21 अधिकारियों के नाम काट दिए गए हैं। कुछ ऐसे लोग फैसले कर रहे हैं जिन्हें नियमों का पता नहीं है। पंद्रह दिन से भी कम समय रह गया है और तब मुझे इस सबके लिए जूझना पड़ रहा है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है।’’ उन्होंने इस संदर्भ में इंचियोन एशियाई खेलों का उदाहरण दिया जब मैनेजर नहीं होने के कारण सरिता देवी को एक पत्रकार से धनराशि उधार लेकर अपना विरोध व्यक्त करना पड़ा था ।

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *