राजस्थान की सत्ताधारी पार्टी ने जारी की घोषणा पत्र, ये हैं प्रमुख वादे

बेरोजगारों को 5 हजार रुपये का भत्ता

जयपुर:

भारतीय जनता पार्टी की ओर से जयपुर में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया और वित्त मंत्री अरुण जेटली ने राजस्थान चुनाव के लिए संकल्प पत्र जारी किया. मुख्यमंत्री वसुंधरा ने कहा कि उनकी सरकार ने पिछले संकल्प पत्र के 665 में से 630 वादों को पूरा किया.

उन्होंने कहा कि दोबारा सत्ता मिलने पर उनकी सरकार पानी की कमी को दूर करेगी और सिंचाई के लिए विशेष योजनाएं लाएगी. वसुंधरा ने बेरोज़गारों को 5 हज़ार रुपए भत्ता देने का भी वादा किया. भाजपा ने विधानसभा चुनाव के लिए घोषणापत्र ‘राजस्थान गौरव संकल्प 2018′ जारी किया.

इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में रोज़गार के लिए मनरेगा की तर्ज़ पर शहरी रोजगार गारंटी क़ानून लाने की भी बात कही गई है. सभी ज़िलों को हाईवे से जोड़ने का भी वादा है.

बड़ी तादाद में सरकारी नौकरियां निकालने की बात भी संकल्प पत्र में शामिल है. 200 विधानसभा सीटों के लिए राजस्थान में 7 दिसंबर को वोट डाले जाने हैं.11 दिसंबर को वोटों की गिनती है.

चुनावी घोषणा पत्र जारी करने के दौरान सीएम वसुंधरा राजे ने कहा कि घोषणापत्र जारी करने में भी भाजपा ने कांग्रेस से बाजी मारी है. हमने रोजगार का वादा पूरा किया, 2.25 लाख लोगों को सरकारी नौकरी दी.

घोषणापत्र जारी करते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि बेरोजगारी को वे लोग मुद्दा बना रहे हैं जो पिछले 70 साल में से 50 साल सत्ता में रहे. अरुण जेटली ने कहा कि ‘भाजपा का गौरव संकल्प पत्र राजस्थान के भविष्य का रोडमैप बताता है.

देश में जो आर्थिक प्रगति है जब उसका विकास अधिक बढ़ता है तो स्वाभाविक है वो केवल एक आंकड़ा नहीं होता, वो हर नगर में, हर शहर में, हर गांव में उसके चिह्न दिखाई देते हैं, और उससे विकास जब बढ़ता है तो सरकार के पास राजस्व भी अधिक आता है.’

बीजेपी के घोषणापत्र की खास बातें:

बेरोजगारों को पांच हजार रूपये का भत्ता

हर साल 30 हजार सरकारी नौकरी

अगले पांच सालों में 50 लाख नौकरियां देने का वादा

गांवों के लिए 250 करोड़ का स्टार्ट अप फंड.

किसानों की आय दोगुनी करने का वादा.

हर जिले में योग भवन का वादा.

1
Back to top button