छत्तीसगढ़

स्कूल भवन में बारिश का पानी भरा, बच्चे पढ़ाई छोड़ पानी निकालने में जुटे

मनीष शर्मा:

मुंगेली/लोरमी/बारिश के दिनों में स्कूल के कमरों में पानी भरे रहने से बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है. बच्चे पढ़ाई छोड़कर कमरे से पानी निकालने में समय व्यतीत कर रहे हैं. इस समस्या की शिकायत हर स्तर पर करने के बावजूद अधिकारियों ने अपनी आंखें मूंद ली है।

लोरमी से महज कुछ ही दूरी पर धनियाडोली गांव में 1965 से प्राथमिक शाला संचालित है. 4 शिक्षकों द्वारा 116 बच्चे को पढ़ाई भी कराई जाती है, लेकिन स्कूल की हालत यह है कि 5 कमरों में से दो कमरे बहुत ही जर्जर स्थिति में हैं। और दो कमरों में बारिश का पानी भरा हुआ है। ऐसी स्थिति में बच्चों की पढ़ाई अधर में है।

ग्रामीणों का कहना है कि छत में कई जगह के प्लास्टर उखड़-उखड़ कर गिर रहा है। बारिश के बाद छत से पानी टपकने से जिन कमरों में कक्षा लगा करती है, वहां पानी भरा हुआ है. हालत यह है कि छात्र खुद अपने घरों से बर्तन लाकर कमरों से भरे हुए पानी को निकालने में जुटे हुए हैं।

मामले में शिक्षकों का कहना है इसकी शिकायत लगातार जन समस्या निवारण शिविर, स्थानीय विधायक सहित अधिकारियों से कई बार की गई, लेेकिन इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है. इससे छात्र-छात्राओं के पालकों में रोष व्याप्त है।

हमारे द्वारा बच्चों को किसी तरीके से कुछ नुकसान ना हो इसको देखते हुए जर्जर भवन में पढ़ाई नही कराने लिखित आदेश जारी किया गया है।:डीएस राजपूत, विकासखंड शिक्षा अधिकारी लोरमी

Tags
Back to top button