छत्तीसगढ़

मनरेगा कार्यों को लेकर सचिव की शिकायत, कलेक्टर ने दिए निलंबित कर बर्खास्तगी की कार्रवाई के निर्देश

ऋण पुस्तिका आदि का वितरण किया गया

लोक सुराज अभियान के तीसरे चरण में जिले के सबसे अंदरूनी गाँवों में लोक सुराज के आवेदनों के निराकरण की स्थिति का निरीक्षण करने कलेक्टर भीम सिंह एवं जिला पंचायत सीईओ चंदन कुमार छुईखदान ब्लाक के गेरूखदान समाधान शिविर पहुँचे। समाधान शिविर में आवेदनों के निराकरण की स्थिति जानने के पश्चात वे चोभर ग्राम पंचायत के आश्रित गाँव बगारझोला पहुँचे। ग्राम बगारझोला बैगाबहुल गाँव है।

यहाँ ग्रामीणों ने मनरेगा कार्यों को लेकर सचिव की शिकायत की। कलेक्टर ने इस पर सचिव पर नाराजगी जाहिर करते हुए उन्हें निलंबित करने तथा बर्खास्तगी की कार्रवाई आरंभ करने निर्देश दिए। ग्रामीणों ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की शिकायत भी की।

ग्रामीणों ने बताया कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एक महीने से उपस्थित नहीं हो रही हैं। इस पर कलेक्टर ने उनकी बर्खास्तगी के निर्देश दिए। ग्रामीणों ने कलेक्टर से मंगरूदा नाले में पुल निर्माण की माँग की, इससे मरकाटोला, पल्लेपानी जैसे गाँवों तक कनेक्टिविटी आसान हो जाएगी।

कलेक्टर ने कहा कि इस संबंध में जल्द ही प्रस्ताव शासन को प्रेषित किया जाएगा। कलेक्टर ने यहाँ पीएम आवास भी देखें। उन्होंने कहा कि बैगा परिवारों को आजीविकामूलक योजनाओं का लाभ दिया जाएगा ताकि इनकी आय तेजी से बढ़ सके। उन्होंने बीएमओ को इस गाँव में स्वास्थ्य शिविर लगाने एवं सबका हेल्थ कार्ड बनाने के निर्देश भी दिए।

कलेक्टर ने कहा कि इस गाँव में बुनियादी सुविधाओं के विकसित ढाँचे के साथ आजीविकामूलक गतिविधियाँ बढ़ाने के लिए भी कार्य आरंभ किए जाएंगे। कलेक्टर ने समाधान शिविर में लोगों को राशन कार्ड दिए तथा शाकंभरी एवं किसान समृद्धि योजना से स्प्रिंकलर, डीजल पंप आदि प्रदाय किए। कलेक्टर ने ग्रामीणों से पेयजल की स्थिति की जानकारी भी ली। केकराटोला तथा कन्हारपानी के लिए उन्होंने नलकूप खनन स्वीकृत भी किया।

कलेक्टर ने कहा कि वनाधिकार के लिए आवेदन करने वाले सभी आवेदकों को पात्रता जाँच कर त्वरित वनाधिकारपत्र देने की कार्रवाई की जाए। साथ ही इनकी भूमि के विकास के लिए कार्य भी किए जाएं। आज राजनांदगांव ब्लाक के खैरा, डोंगरगढ़ के रेंगाकठेरा, खैरागढ़ ब्लाक के विचारपुर, मानपुर ब्लाक के सरखेड़ा तथा नगरीय निकायों में शिविरों का आयोजन हुआ।

इन सभी के लिए नोडल अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई थी। शिविरों में समस्याओं के निराकरण के संबंध में जानकारी दी गई, साथ ही मौके पर ही राशनकार्ड, ऋण पुस्तिका आदि का वितरण किया गया। इसके साथ ही उज्ज्वला योजना के अंतर्गत सिलेंडर का भी वितरण किया गया।

छुरिया के शिकारीमहका में 4298 आवेदनों में से 4116 आवेदनों के निराकरण की जानकारी दी गई –

शिकारीमहका स्थित शिविर में सामाजिक सुरक्षा पेंशन का चेक, राशन कार्ड तथा चरण पादुका वितरित की गई। इसके अलावा उज्ज्वला योजना अंतर्गत निःशुल्क गैस सिलेंडर भी वितरित किया गया। हांडीटोला को शतप्रतिशत विद्युतीकृत होने का सर्टिफिकेट- अंबागढ़ चौकी विकासखंड के हांडीटोला को शतप्रतिशत विद्युतीकृत होने पर सर्टिफिकेट प्रदान किया गया।

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.