गायक को मार डाला,गीत की धुन पर शरीर में नहीं आई देवी तो

राजस्थान: जैसलमेर में अंधविश्वास ने एक लोक गायक की जान ले ली. गायक को एक मंदिर में गाने के लिए बुलाया गया था. वहां उसके गीत पर भोपे के अंदर कथित तौर पर देवी ने प्रवेश नहीं किया. नाराज भोपे ने गुस्से में आकर गायक की हत्या कर दी. जब इस मामले में विवाद बढ़ा तो मृतक गायक के समाज के लोगों ने डर की वजह से गांव छोड़ दिया. अब पुलिस मामले की जांच कर रही है.

मामला जैसलमेर के फलसूंड थाना इलाके के दांतल गांव का है. जहां रहने वाला अहमद खान एक लोक गायक था. वह आईनाथ मंदिर में देवी के लोक भजन गाता था. बीते 27 सितंबर को मंदिर के भोपा रमेश सुथार ने अहमद से ऐसा राग गाने के लिए कहा, जिससे उसके शरीर में देवी प्रवेश कर जाए. लेकिन भजन गाने के बावजूद भी भोपा के शरीर में देवी नहीं आई

उन्होंने मृतक समाज के लोगों को गांव से निकल जाने के लिए कहा. घटना के बाद लंगा मांगणियारों समाज के करीब 25 परिवार गांव छोड़कर जैसलमेर चले गए. प्रशासन ने उनकी व्यवस्था रैन बसेरा में करवा दी. प्रशासनिक अधिकारियों ने इन लोगों से वापस लौटने को कहा. लेकिन समाज के लोग गांव लौटने के तैयार नहीं हैं.

पुलिस के मुताबिक, मृतक अहमद के शव का पोस्टमार्टम कराया जा चुका है. उसकी रिपोर्ट को फोरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है. पुलिस ने मुख्य आरोपी भोपा रमेश को गिरफ्तार कर लिया है. हालांकि, 2 आरोपी अभी फरार हैं. जिनकी तलाश में पुलिस दबिश दे रही है. फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है.

Back to top button