प्रेरणा स्रोत व चेतना जागृत करने का माध्यम है आजादी का अमृत महोत्सव –गृह मंत्री

प्रेरणा स्रोत व चेतना जागृत करने का माध्यम है आजादी का अमृत महोत्सव – केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) की अखिल भारतीय कार रैली सुदर्शन भारत परिक्रमा को झंडी दिखाकर रवाना किया। इसके साथ ही उन्होंने केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) की एक कार्यक्रम में भी हिस्सा लिया। उन्होंने कहा कि आज़ादी के अमृत महोत्सव को प्रेरणा का एक स्रोत व चेतना जागृत करने का माध्यम बनाकर भारत के विकास का राजमार्ग बनाएं।

41,000 किलोमीटर का साइकिल पर भ्रमण किया पूरा

केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इस अवसर पर कहा कि एनएसजी के कमांडों की सुदर्शन रैली (कार रैली) आज यहां से प्रारंभ होने जा रही है। ये कार रैली बहुत बड़ी यात्रा करके अपने गंतव्य स्थान पर पहुंचेगी। उन्होंने कार रैली में हिस्सा लेने वाले जवानों को शुभकामनाएं दी। यह कार रैली अमृत भारत महोत्सव के एक हिस्से के रुप में आयोजित की गई है।

वहीं, सीएपीएफ की साइकिल रैली का स्वागत करते हुए शाह ने कहा कि देश भर के अनेक स्थानों से केंद्रीय पुलिस बलों की 45 विभिन्न रैलियां एक माह की अवधि में 41,000 किलोमीटर का साइकिल पर भ्रमण करके, सभी शहीदों की स्मारकों को छू कर आज यहां पहुंचे है।

साइकिल रैली में हिस्सा लेने वाले जवानों के हौसलें की सराहना की

गृह मंत्री ने कहा कि साइकिल और कार रैली में शामिल केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बलों के जवानों और अधिकारियों का अभिनंदन करते हुए केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि 41000 किलोमीटर का सफ़र तय करके आई साइकिल रैलियों और आज से शुरू हो रही सुदर्शन भारत परिक्रमा कार रैली देश में चेतना जागृति का एक निष्ठावान प्रयास है और ये आज़ादी के अमृत महोत्सव के लक्ष्यों की पूर्ति की ओर हमें ले जाएगी। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दांडी मार्च के दिन आज़ादी के अमृत महोत्सव की शुरूआत की थी और अब ये अमृत महोत्सव जनता के मन में एक नई चेतना जागृत कर रहा है।

मिलकर हम बनगे बड़ी शक्ति

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि आज़ादी का अमृत महोत्सव भारत के उज्ज्वल भविष्य और विश्व में भारत को उन्नत स्थान दिलाने के लिए मन में आशा जगाने, संकल्प लेने और अपने कार्यों से इन आशाओं को पूरा करने का है। उन्होंने कहा कि भारत 130 करोड़ की आबादी वाला देश है और अगर सभी 130 करोड़ भारतीय आज़ादी के अमृत महोत्सव में एक-एक संकल्प लें तो एक बहुत बड़ी शक्ति बन जाएगी। अगर हम सब भारतीय एक ही दिशा में एक एक कदम चलते हैं, तो हम सब एक साथ 130 करोड़ कदम आगे बढ़ते हैं। ये हम सबकी ज़िम्मेदारी है कि हम प्रधानमंत्री के नेतृत्व में आज़ादी के अमृत महोत्सव को प्रेरणा का एक स्रोत व चेतना जागृत करने का माध्यम बनाकर भारत के विकास का राजमार्ग बनाएं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button