प्रदेश कांग्रेस सरकार एक नमूने के तौर पर इसलिए याद की जाएगी कि इसने जो भी काम शुरू किया, उसमें उसे मुँह की खानी पड़ी : भाजपा

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अनुराग सिंहदेव ने प्रदेश सरकार की तकनीकी समझ पर सवाल उठाते हुए कटाक्ष किया

0 वैक्सीनेशन के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए लॉन्च पोर्टल के बाद अब प्रदेश सरकार के सबसे पसंदीदा ‘दारू पोर्टल’ की विफलता पर भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने साधा निशाना

0 पोर्टल फेल्योर की आड़ लेकर प्रदेश सरकार वैक्सीनेशन को षड्यंत्रपूर्वक चौपट कर रही है और दारू पोर्टल को विफल बताकर शराब की दुकानें खोलने की गुपचुप तैयारी कर रही है

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अनुराग सिंहदेव ने प्रदेश सरकार की तकनीकी समझ पर सवाल उठाते हुए कटाक्ष किया है कि संभवत: देश की अब तक की राज्य सरकारों में छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार एक नमूने के तौर पर इसलिए याद की जाएगी कि इस सरकार ने जो भी काम किया, उसमें उसे हर बार मुँह की खानी पड़ी।

वैक्सीनेशन के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए लॉन्च पोर्टल के ठप होने के बाद अब प्रदेश सरकार के अपने सबसे पसंदीदा ‘दारू पोर्टल’ की विफलता की ख़बरों पर टिप्पणी करते हुए सिंहदेव ने कहा कि इससे दो ही संकेत साफ़-साफ़ मिल रहे हैं कि पोर्टल फेल्योर की आड़ लेकर प्रदेश सरकार एक तो वैक्सीनेशन के काम को षड्यंत्रपूर्वक चौपट करने का काम कर रही है और दूसरे, दारू पोर्टल को विफल बताकर प्रदेशभर में शराब की दुकानें खोलने की गुपचुप तैयारी में राज्य सरकार लगी है।

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता सिंहदेव ने कहा कि यह हैरत की बात है कि प्रदेश सरकार शराबप्रेमियों की फ़िक्र में इतनी दुबली हुई जा रही है कि अब उसने पोर्टल पर ऑनलाइन शो नहीं होने पर स्क्रीन शॉट पर भी दारू मुहैया कराने की सहूलियत देने का एलान किया है, जबकि वैक्सीन टीकाकरण के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन होने के बाद भी लोगों को बैरंग लौटना पड़ रहा है। राजधानी के कई केंद्रों से वैक्सीन का टीका लगाए बिना सैकड़ों लोग निराश लौटने को मज़बूर हुए।

सिंहदेव ने कहा कि प्रदेश सरकार शराबप्रेमियों के लिए जितने जतन कर रही है, उतना वह कोरोना की रोकथाम और वैक्सीनेशन के लिए करती तो प्रदेश में कोरोना का भयावह दूसरा दौर नियंत्रित और स्वस्थ लोग सुरक्षित हो ते, लेकिन यह प्रदेश सरकार की बदनीयती और कुनीतियों का परिणाम है कि छत्तीसगढ़ में दारू हर हाल में मिलने की पूरी गारंटी है, पर टीकाकरण की नहीं!

सिंहदेव ने प्रदेश सरकार से सवाल किया कि उसकी प्रथमिकता क्या है, दारू या वैक्सीनेशन? कुछ लोगों की मौत का हवाला देकर शराब की कोचियागिरी के लिए लपलपाती प्रदेश सरकार क्या अब पोर्टल फेल्योर और शराब तस्करी के बहाने प्रदेशभर में शराब की दुकानें चालू कराने की फ़िराक़ में है?

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button