राष्ट्रीय

सेना के जवानों का मनोबल बढ़ाने का अजीबो-गरीब तरीका, 5,300 किमी तक चला चुके हैं उल्टी कार

बस्ती: महाराष्ट्र के पुणे जिले के रहने वाले एक शख्स देश की सीमाओं पर तैनात जवानों का मनोबल बढ़ाने के लिए पिछले 52 दिनों से अपनी कार को उल्टी ड्राइव कर यात्रा पर हैं। पुणे जिले के रहने वाले संतोष अब तक 5,300 किलोमीटर की यात्रा कार को उल्टी दिशा में चलाकर पूरी करने का दावा कर रहे हैं।

संतोष बुधवार को बस्ती पहुंचे। वह पुणे की भोर तहसील के सिंध गडवी गांव के रहने वाले हैं और 1 जनवरी को यात्रा पर निकले हैं।

सेना के जवानों का मनोबल बढ़ाना है उद्देश्य

संतोष का कहना है कि उनका उद्देश्य सरहद पर तैनात जवानों का मनोबल बढ़ाना है। इसके इतर वह लोगों से चाइनीज सामानों का बहिष्कार करने के अलावा जात-पात के भेदभाव को मिटाने की अपील भी करते हैं। संतोष अपनी यात्रा के दौरान उल्टी कार चलाकर उन शहीद जवानों के परिजनों से भी मिलने पहुंच जाते हैं, जिनके बारे में लोगों से उन्हें पता चलता है।

पेशे से कॉन्ट्रैक्टर हैं संतोष

संतोष एक दिन में 150-200 किलोमीटर तक कार उल्टा चलाते हैं। संतोष कहते हैं कि वह पेशे से कॉन्ट्रैक्टर हैं। संतोष का मानना है कि सरहद पर तैनात जवानों को होने वाली दिक्कतों पर सरकार को खास ध्यान देना चाहिए।

संतोष ने पीएम मोदी से अपील भी की है कि वह सरहद पर तैनात जवानों को थोड़ी छूट दें ताकि चीन, पाकिस्तान और आतंकवादियों से निपटने में उन्हें बंदिशों का सामना ना करना पड़े।

गाड़ी का नंबर या ट्रैफिक नियमों की धज्जियां

उल्टी कार चलाकर 5,300 किलोमीटर की यात्रा करने का दावा करने वाले संतोष की गाड़ी का नंबर ट्रैफिक नियमों की सरेआम धज्जियां उड़ा रहा है। गाड़ी का नंबर है एमएच 12 एफएक्स 2757 लेकिन नंबर के साथ कुछ इस तरह से खिलवाड़ किया गया है कि यह ‘राज’ लिखा हुआ नजर आ रहा है।

जानिए, क्या कहते हैं ट्रैफिक नियम

ट्रैफिक नियमों के मुताबिक, गाड़ी के नंबर में किसी तरह की छेड़छाड़ करना गलत है। गाड़ियों के नंबर प्लेट सफेद रंग के होने चाहिए, जिन पर काले रंग से अंग्रेजी में लिखा होना चाहिए जो आसानी से पढ़ा जा सके।

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *