21 से ज्यादा विपक्षी दलों की इस याचिका पर सुप्रीम कोर्ट आज करेगी सुनवाई

फ्री एंड फेयर चुनाव और पुख्ता व्यवस्था के लिए याचिका दाखिल की गई

नई दिल्ली: आगामी लोकसभा चुनाव 2019 से पहले 50% वोटों का मिलान वोटर्स वेरीफाइड पेपर्स ट्रेल (वीवीपैट) की पर्ची से कराने की मांग को लेकर 21 से ज्यादा विपक्षी दलों ने याचिका लगाई है. जिस पर सुप्रीम कोर्ट में आज शुक्रवार को सुनवाई किया जाएगा.

फ्री एंड फेयर चुनाव और पुख्ता व्यवस्था के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की गई है. 50 फीसदी EVM और VVPAT का औचक निरीक्षण करने की मांग आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सहित 21 विपक्षी दलों के प्रमुख नेताओं ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल याचिका में की है.

याचिका में मांग की गई है कि सुप्रीम कोर्ट चुनाव आयोग को निर्देश दे कि वे कुल इस्तेमाल की जा रही EVM और VVPAT में से 50 फ़ीसदी EVM में दर्ज मतों और उनकी जोड़ीदार VVPAT में मौजूद पर्चियों का औचक मिलान करे.

याचिकाकर्ताओं में शरद पवार, केसी वेणुगोपाल, डेरेक ओ ब्राउन, शरद यादव, अखिलेश यादव, सतीश चंद्र मिश्रा, एमके स्टालिन, टीके रंगराजन, मनोज कुमार झा, फारुख अब्दुल्ला, एसएस रेड्डी, कुमार दानिश अली, अजीत सिंह, मोहम्मद बदरुद्दीन अजमल, जीतन राम मांझी, प्रोफेसर अशोक कुमार सिंह आदि शामिल हैं.

याचिका दाखिल करने वाले दलों में कांग्रेस, एनसीपी, समाजवादी पार्टी, बसपा, डीएमके, जेडीएस, आप और वामपंथी दल शामिल हैं.

Back to top button