क्राइम

खर्राघाट स्थित हिन्दू आराध्य देवता हनुमान जी की मंदिर को अज्ञात तत्वों ने तोड़ा

मामला पहुँचा थाने..

हिमालय मुखर्जी ब्यूरो चीफ रायगढ़

रायगढ़ 23 जून। जानकारी के अनुसार रपटा पुलिया खर्राघाट स्थित मरीन ड्राइव श्मशान घाट के ठीक पीछे कॉर्नर में एक शिवालय बना हुआ है जिसके बगल में करीबन हजार फुट के जमीन पर लगभग 04 फुट की ऊंचाई पर बजरंगबली की मूर्ति पिछले 02 वर्ष पूर्व स्थापित की गई थी।

खर्राघाट स्थित हिन्दू आराध्य देवता हनुमान जी की मंदिर को अज्ञात तत्वों ने तोड़ा

पूर्व में बजरंगबली की मूर्ति कुछ तरह से स्थापित थी

बताया जा रहा है कि जब केलो नदी के ऊपर जिंदल ने केलो पुल का निर्माण किया था उस दौरान वहां पर बजरंगबली और शिवमंदिर स्थापित थी लेकिन पुल निर्माण के कारण उसे वहां से हटाना पड़ा और उस वक्त तत्कालीन कलेक्टर अमित कटारिया ने शिवालय के लिए जमीन एलॉट करते हुए जिंदल को सीएसआर मद से मंदिर निर्माण करने के लिए कहा था।मन्दिर का खंडित दृश्य

बताया जा रहा है कि निर्माण के पश्चात शिवालाय की जिम्मेंदारी बिजेन्द्र यादव को मिली थी। विजेंद्र यादव पिछले कई वर्षों से शिवमंदिर के पुजारी हैं और उन्होंने ही शिवमंदिर के बगल में स्थित जमीन पर 02 वर्ष पूर्व ही 04 फीट की उंचाई पर बजरंगबली की मूर्ति स्थापित कर भगवान की प्रतिदिन पूजा-अर्चना करते हुए अपना दायित्व निभा रहे थे।

खर्राघाट स्थित हिन्दू आराध्य देवता हनुमान जी की मंदिर को अज्ञात तत्वों ने तोड़ा

जमीदोंज हुए मन्दिर का मलबा गड्ढे में

clipper28 की टीम पहुँची घटनास्थल पर :

मौका स्थल पर जब clipper28 की टीम पहुंची और घटना स्थल का मुआयना करते हुए शिवालय के पुजारी विजेंद्र यादव से पूछताछ की तो उन्होंने बताया की यहां पर आज सुबेरे उन्होंने बजरंगबली की पूजा अर्चना किया था लेकिन लगभग 10:00 बजे के आसपास जब वो वापस आए तो यहां पर बजरंगबली की 04 फ़ीट के चबूतरा के ऊंचाई पर बने चबूतरा को टूटा हुआ पाया और बजरंगबली की मूर्ति भी गायब मिली। मन्दिर का स्थल पूरी तरह से जमींदोज हो चुका था और मंदिर के मलबे को चारों तरफ के गड्ढों में फेंक दिया गया था।
देखें एक्सक्लूसिव वीडियो :उन्होंने बताया की मूर्ति किसी अज्ञात तत्व ने चबूतरे को तोड़कर मन्दिर को क्षतविक्षत कर जीर्णसिर्ण कर दिया है जिसे देखकर एकबारगी वो हतप्रभ रह गए उनकी धार्मिक भावनाएं काफी आहत हुई है और उन्होंने इस बात की शिकायत सिटी कोतवाली में की है।

खर्राघाट स्थित हिन्दू आराध्य देवता हनुमान जी की मंदिर को अज्ञात तत्वों ने तोड़ा

मौकास्थल पर पुलिस मौजूद :

मौका स्थल पर सिटी कोतवाली के पुलिस अधिकारी राजेंद्र पटेल मौजूद हैं और घटना की जानकारी हासिल करने में जुटे हुए हैं ।
आसपास के लोगों से पूछताछ करने पर यह मालूम हुआ कि यहां पर असामाजिक तत्वों का भी जमावड़ा हमेशा लगा रहता है जिसकी पुष्टि मंदिर के पुजारी विजेंद्र यादव ने भी किया है, चूंकि मामला हिंदू धर्म के आराध्य देवता श्री हनुमान जी के मंदिर को तोड़कर खंडित करने का है तो यह कोई छोटा-मोटा मुद्दा नहीं है।

मंदिर खंडित होने की सूचना पर हनुमान भक्त और युवा नेता आए आगे :

जब इस मामले की जानकारी कई बजरंगबली के भक्तों और राजनीतिक दलों के युवाओं को हुआ तो उन्होंने इस पर अपनी आवाज उठाते हुए पुजारी विजेंद्र यादव के साथ कदम से कदम मिलाते हुए नजर आए और यह मामला राजनीतिक रूप अख्तियार कर चुका है। उपस्थित युवाओं से कहना है कि मंदिर खंडित करने वाले अज्ञात तत्वों को यह मालूम होना चाहिए कि किसी भी धर्म के देवताओं के निवास स्थल/ पूजा स्थल को तोड़ना कितना बड़ा पाप है। यह धार्मिक उन्माद बनाने का मामला है और यह भारतीय कानून के तहत संगीन जुर्म के दायरे में आता है।

वैसे इस पूरे मामले में जमीन विवाद का दूसरा एंगल भी निकल कर सामने आया। इसमें दो पक्ष अपना-अपना दावा प्रस्तुत कर रहे है। बहरहाल पुजारी बिजेंद्र यादव ने मंदिर तोड़ने वाले अज्ञात व्यक्ति के ख़िलाप सिटी कोतवाली रायगढ़ में शिकायत किया है। कोतवाली पुलिस इस विषय को दोनों एंगल से जांच कर रही है।

Tags
Back to top button