शहर की ट्रैफिक व्यवस्था चरमराई, ट्रैफिक पुलिस के शहर भीतर अव्यवस्था सुधारने की ताकत नहीं

दोपहिया, चारपहिया वाहनों,चारपहिया ठेलो के चलते शहर भीतर चलना हुआ दूभर

मनीष शर्मा

मुंगेली।

नगर की मृतप्राय यातायात व्यवस्था को यहां की जनता आज नही बल्कि जिस दिन जिले का निर्माण हुआ उस दिन से कोस रही है बेलगाम ट्रैफिक वालो का काम सिर्फ नगर के चारों प्रमुख मार्गों पर असमय वाहनों को रोक वसूली करने का ही काम देखने को मिल रहा है।

मुंगेली में मरी हुई ट्रैफिक व्यवस्था होने के चलते शहर के हृदय स्थल गोलबाजार, बलानी चौक,गर्ल्स स्कूल रोड,बड़ा बाजार से गुजरने वाली छात्राओं, महिलाओ को हरसमय असुरक्षित महसूस होता है जेबकतरों द्वारा बेतरतीब वाहनों और भीड़ के चलते पाकिटमारी की घटनाएं हो रही है।

उक्त बातें आज जिला कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष विनय चोपड़ा ने कही। श्री चोपड़ा ने बताया कि नया बस स्टैंड में यातायात थाने की व्यवस्था है मगर वह थाना स्वयं बसों,चारपहिया ठेलो से घिरा रहता है।

बता दें जिला निर्माण के बाद से अब तक ट्रैफिक व्यवस्था के नाम पर दोनों सिग्नलों में एक ट्रैफिक कर्मी की व्यवस्था रखी जाती है बचत ट्रैफिक अमला मोटर व्हीकल एक्ट कार्यवाही के नाम पर चारो मार्गो में शहर से कुछ दूर दुपहिया, चारपहिया बड़ी वाहनों से कभी भी वसूली करना ही इन यातायात कर्मियों का मुख्य ध्येय रहता है ।

जिला कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष ने मुंगेली जिले के यातायात की बदहाली परिवहन मंत्री मो.अकबर को पत्र लिख प्रेसित किया है साथ ही आवारा मवेशियों के शहर के सड़को में रहने से राहगीरों को होने वाली परेशानियों से अवगत कराया है।

श्री चोपड़ा ने बताया आगामी 21 को मुंगेली जिले में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रवास दौरान भी यातायात एवं अन्य ज्वलंत समस्याओं से अवगत कराया जाएगा। ट्रैफिक पुलिस के वसूली के विरुद्ध कार्यवाही की मांग की जाएगी।

1
Back to top button