राष्ट्रीय

थम नहीं रहा शिक्षामित्रों का विराेध, एटा में एक घंटे तक रोकी ट्रेन

एटाः उत्तर प्रदेश के एटा में आज आंदोलित सैकड़ा शिक्षामित्रों ने अपनी मांगों को लेकर एक घंटे तक एटा-टूंडला पैसेंजर ट्रेन को रोके रखा। उच्चतम न्यायालय द्वारा समायोजन रद्द किये जाने से आंदोलित शिक्षा मित्रों ने आज एटा-टूंडला पैसेंजर ट्रेन को सेंट पॉल्स स्कूल के पास एक घंटे तक रोके रखा। इस बीच आक्रोशित शिक्षामित्रों ने ट्रेन के ड्राईवर कोच पर पूरी तरह से कब्जा कर लिया। बैनर लेकर शिक्षा मित्र ट्रेन के इंजन पर चढ़ गए।

सैकड़ों की संख्या में शिक्षामित्र ट्रेन की पटरियों पर बैठ गए और लेट गए। इस बीच रेलवे पुलिस और स्थानीय सिविल पुलिस के सैकड़ों कांस्टेबल और इंस्पेक्टर ने शिक्षा मित्रों को समझाने की कोशिश की लेकिन वे टस से मस नहीं हुए। शिक्षा मित्र केंद्र सरकार और उत्तर पदेश सरकार विरोधी नारेबाजी कर रहे थे।

शिक्षामित्रों ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष अमित शाह को संबोधित एक ज्ञापन भाजपा जिला अध्यक्ष दिनेश वशिष्ठ को सौंपा। बाद में भाजपा विधायक विपिन वर्मा डेविड ने शिक्षामित्रों को न्याय दिलाने का आश्वासन दिया। जिला अध्यक्ष दिनेश वशिष्ठ ने कहा कि भाजपा शिक्षामित्रों के साथ है और शिक्षकों की जीत होगी। कोई ऐसा रास्ता निकाला जायेगा जिससे उच्चतम न्यायालय का निर्णय भी बना रहे और शिक्षा मित्रों का सम्मान भी।

इस अवसर पर शिक्षामित्र संघ के जिला अध्यक्ष अवधेश यादव ने कहा कि सरकार से मांग की है कि शिक्षामित्रों की सम्मान जनक वापसी की जाए। उन्होंने कहा कि जब तक मांगे नहीं मानी जाती हैं आंदोलन जारी रहेगा। इस बीच एक शिक्षा मित्र पंकज भीषण गर्मी के कारण बेहोश हो गया। बीमार शिक्षामित्र को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस अवसर पर घटन स्थल को छावनी में तब्दील कर दिया गया था।

Tags
Back to top button