छत्तीसगढ़मध्यप्रदेशराज्यराष्ट्रीय

गुना के पीड़ित किसान परिवार को न्याय दिलाने के लिये राष्ट्रपति के नाम संयुक्त मोर्चा ने कलेक्टर के माध्यम से ज्ञापन सौपा

ह्रदय विदारक घटना का अंजाम देते हुए कानून और संविधान का उल्लंघन

रायपुर: गुना की घटना के विरोध में संयुक्त मोर्चा छत्तीसगढ़ SC,ST, OBC & Minorities ने कलेक्टर महोदय रायपुर को महामहिम राष्ट्रपति भारत सरकार, नई दिल्ली के नाम हाल ही में मध्यप्रदेश के जिला गुना में अनुसूचित जाति वर्ग के किसान दंपत्ति के साथ शासन व प्रशासन के निर्देश पर पुलिस ने मानवीय संवेदना को तार तार करते हुए बर्बरता पूर्वक कार्रवाई की। घटना में पुलिस ने लाठियां व लात से बेदम पिटाई करते हुए जमीन से बेदखली की कार्रवाई करते हुए कर्ज लेकर की जा रही खेत की फसल में जेसीबी चला दिया गया।

पुलिसकर्मियों ने मीडिया के सामने ह्रदय विदारक घटना का अंजाम देते हुए कानून और संविधान का उल्लंघन किया है। इससे आहत होकर पीड़ित परिवार राजकुमार अहिरवार ने आत्महत्या करने के लिये जहर का सेवन कर लिया है। घटना की फोटो व वीडियो सोशल मीडिया और समाचार चैनलों में प्रशारित होने पर देशभर में गुना में पुलिस बर्बरता की निंदा करते हुए आक्रोश व्यक्त किया जा रहा है।

घटना के विरोध में SCSTOBC&Minoritiesसंयुक्त मोर्चा छत्तीसगढ़ ने मध्य प्रदेश के गुना जिले कैंट थाना क्षेत्र में दलित किसान परिवार के साथ हुए पुलिस द्वारा बर्बरता की कड़ी निंदा करते हुए प्रदर्शन किया है। संयुक्त मोर्चा से जुड़े सामाजिक कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को राजधानी रायपुर केलेक्ट्रेड चौराहा स्थित डॉ. बाबा साहब अंबेडकर प्रतिमा के समक्ष विरोध प्रदर्शन कर दोषियों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की मांग किया है। पीड़ित परिवारों को मुआवजा, दोषी पुलिस अधिकारियों के खिलाफ एससी/एसटी एक्ट की धारा के तरह कार्रवाई करते हुए नौकरी से बर्खास्त करने की मांग की गई है।

संयुक्त मोर्चा ने देशभर में गुना की घटना के अलावा जम्मू के उधमपुर में दलित युवक की हत्या, उत्तरप्रदेश के आगरा में दलित परिवार के घरों में आगजनी और बलात्कार जैसी बढ़ती जघंन्य अपराधों पर रोक लगाने महामहिम राष्ट्रपति जी से मांग करने हेतु रायपुर कलेक्टर को ज्ञापन प्रेषित किया गया जिसमें संयुक्त मोर्चा के पदाधिकारियों जिनमे एड.रामकृष्ण जांगड़े मुख्य संयोजक,रघुनंदन साहू संयोजक,अग्निश देव, हेमंत जोशी, सुनील गणविर, जितेंद्र सोनकर सहित कई लोग उपस्थित रहे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button