पीड़ि़त ने एसपी मीणा से गुहार लगाई तो तारबाहर थाने में दर्ज हुआ अपराध

अंकित मिंज

बिलासपुर।

झारसुगुड़ा में नौकरी कर जीवन यापन करने वाले एक मजदूर के खाते से 80 हजार रुपए बिना उसकी जानकारी के निकालने का मामला सामने आया है। झारसुगुड़ा से रायगढ़ तक चक्कर लगाने के बाद पीडित ने बिलासपुर के दो थानों में भी अपनी फरियाद लेकर पहुंचा लेकिन उसकी सुनवाई नहीं हुई। अंत में पीडित ने शनिवार को एसपी के समक्ष गुहार लगाई तब जाकर एसपी के निर्देश पर तारबाहर पुलिस ने अपराध कायम कर मामले को जांच में लिया है।

देवलाल पिता परस राम ने रायगढ़ के परसपाली के भारतीय स्टेट बैंक में दो.ढाई माह पूर्व अपना खाता खुलवाया था। बैंक से उसे एटीएम कार्ड मिला था। जिसे वह झारसुगुड़ा के एटीएम सेन्टर में इस्तेमाल कर रहा था। लेकिन 12 जनवरी को उसके एकाउंट से अचानक 40 हजार व 13 जनवरी को 40 हजार रुपए निकल गए ।

सुबह मैसेज चेक करने पर उसे जानकारी मिली कि उसके खाते से 80 हजार रुपए किसी ने निकाल लिए है। तो वह तत्काल झारसगुड़ा थाने पहुंचा, लेकिन उसने बैंक स्टेटमेंट व अन्य की मांग की तो बैंक खाता रायगढ़ में खुलने की जानकारी दी।

थाना प्रभारी ने रायगढ़ में ही शिकायत करने की बात कह चलता कर दिया। रायगढ़ में खाता एंट्री कराने के बाद जब वह थाने पहुंचा तो थाने के स्टाफ ने पीडित को बताया कि रुपयों का आहरण बिलासपुर से हुआ है। इस कारण बिलासपुर में ही अपराध दर्ज होगाए कह कर पुलिस कोतवाली थाने जाने की सलाह दे दी। पीडि़त ने बिलासपुर पहुंच कर कोतवाली थाने में बताया कि उसके खाते से एटीएम कार्ड के माध्यम से किसी ने 80 हजार रुपए निकाल लिए है।

गांधी चौक में भी आरोपी ने प्रयास किया है। यह उसे बैंक से पता चला है। इस पर कोतवाली के आरक्षकों ने देवलाल को सिविल लाइन थाने भेज कर पल्ला झाड़ लिया। थानों में पुलिस वालों की बदसलूकी से तंग पीडित देवलाल अपने भाई के साथ पुलिस कप्तान के दरबार पहुंच ठगी की जानकारी दी, साथ ही तारबाहर पुलिस से मामले में एफआईआर दर्ज कर जांच करने का निर्देश दिया तब जाकर अपराध दर्ज हो सका।

पीडित ने बैंक से प्राप्त किया आरोपी का फुटेज: पीडि़त देवलाल ने एसपी को बताया कि उसने आवदेन के साथ ही घटना का समय व आरोपी की फोटो भी स्टेट बैंक से निकलवा ली है। उसने एसपी को आरोपी का चेहरा फोटा व घटना की विस्तार से जानकारी दी।

गांधी चौक में प्रयास: एटीएम कार्ड का क्लोन तैयार कर आरोपी ने बिलासपुर के दो जगहों व्यापार विहार स्थित रामा टे्रड सेंटर व गांधी चौक स्थित एटीएम सेंटर में रुपए निकालने का प्रयास किया लेकिन वह रामा ट्रेड सेंटर से ही रुपए निकालने में कामयाब रहा।

झारसुगुड़ा में तैयार हुआ होगा क्लोन: पुलिस अधिकारियों की माने तो पूर्व में एटीएम कार्ड का क्लोन बनाकर ठगी का जो मामला पूर्व में सामने आया था उसमें भी एटीएम कार्ड का झारसुगुड़ा क्षेत्र के जमताड़ा व कुछ गांवों से जुडा पाया गया था संभवतः इस मामले के तार भी वही से जुडे हुए होंगे।

1
Back to top button