दीवारों के अंदर फिट की गई है वाटर कूलिंग लाइन, पंखा चालू करते ही हॉस्टल हो जाता है 23 डिग्री सेल्सियस ठंडा

रायपुर: कहा जाता है आवश्यकता अविष्कार की जननी है, लेकिन आज इनोवेशन एक हुनर बन गया है। कोई भी बड़ा कार्य पैसे से नहीं, बल्कि एक बड़े आइडिया से शुरू होता है। कई बार हम कुछ चीजों को देखकर एक नया निर्माण करने की सोचते हैं क्योंकि उसमें एक नया अविष्कार छुपा रहता है।

आज प्रदेश में तापमान लगातार बढ़ रहा है और तेज गर्मी में लू के थपेड़े लगना भी स्वाभाविक है। वहीं मॉडर्न लाइफ के चलते हम एयर कंडीशनर फ्रेंडली बन गए हैं। जरा सी गर्मी में हम एसी को ऑन करके ठंडक का आनंद लेते हैं।

मगर एसी में से निकलने वाली एचसीएफसी (हाइड्रो क्लोरो फ्लुओरोकार्बोन) गैस पर्यावरण को दूषित तो करती ही है, साथ ही आपके स्वास्थय पर विपरीत प्रभाव डालती है।

Back to top button