अजब गजब

रेस्टॉरेंट में नाश्ते के लिए टोस्ट लेने पहुंची महिला हुआ कुछ ये देखकर रह गई दंग

ये ऑर्डर टेक-अवे (पैक करके ले जाना) था। ऑर्डर के बाद महिला को बिल के बजाए डॉकेट दिया गया था

नई दिल्ली। दुनिया के तमाम देश बेशक इस बात का दावा करते हों कि वे जातिवाद और क्षेत्रवाद के खिलाफ हैं, और वे इसके विरुद्ध उचित कार्यवाही कर रहे हैं।

लेकिन इस खबर को पढ़ने के बाद इन देशों के ऐसे तमाम दावों की पूरी पोल-पट्टी खुलकर दुनिया के सामने आ जाएगी। मामला ऑस्ट्रेलिया के सिडनी शहर का है, जहां एक चीनी मूल की महिला नाश्ता करने के लिए रेस्टॉरेंट में पहुंची थी।

महिला ने रेस्टॉरेंट में नाश्ते के लिए किशमिश टोस्ट ऑर्डर किया था। महिला द्वारा किया गया ये ऑर्डर टेक-अवे (पैक करके ले जाना) था। ऑर्डर के बाद महिला को बिल के बजाए डॉकेट दिया गया था।

बता दें कि डॉकेट एक प्रकार का ऑर्डर रीसिप्ट होता है जो किचन में काम करने वाले कारीगरों को दिया जाता है, जिसमें खाना ऑर्डर करने वाले की जानकारी लिखी होती है।

महिला को मिले इस डॉकेट में कुछ ऐसा लिखा था, जिसे देखने के बाद विदेशी महिला के होश उड़ गए। दरअसल डॉकेट में ऑर्डर के साथ महिला के नाम के बजाए महिला की क्षेत्रीय जातीयता का वर्णन किया गया था।

ऑर्डर लेने वाले कर्मचारी ने महिला के किशमिश टोस्ट के ऊपर अंग्रेज़ी के बोल्ड कैपिटल लेटर्स में ‘ASIAN’ लिखा था। महिला का नाम कैथरीन है, जिनके साथ ये पूरा अनचाहा वाक्या हुआ।

कैथरीन ने रेस्टॉरेंट के इस रवैये पर कोई खास नाराज़गी ज़ाहिर नहीं की, उन्होंने कहा कि आमतौर पर ऐसी जगहों पर डॉकेट में ऐसी चीज़ें लिखी जाती हैं ताकि ऑर्डर बनाने वाले ग्राहक को आसानी से पहचान सकें।

अपनी साधारण प्रक्रिया के बावजूद उन्हें ऐसा लगा कि यह एक गंभीर मुद्दा हो सकता है। जिसका निपटारा करना काफी ज़रूरी है। महिला ने बताया कि डॉकेट पर क्षेत्रीय जातीयता का वर्णन करने की कोई खास ज़रूरत नहीं थी,

क्योंकि उस समय रेस्टॉरेंट की लाइन में वे अकेली थीं। कैथरीन ने डॉकेट प्रिंट करने वाले शख्स से बेहद ही दोस्ताना अंदाज़ में बातचीत भी की, उन्होंने कर्मचारी से कहा कि मुझसे मेरा नाम पूछने में कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए थी।

Summary
Review Date
Reviewed Item
रेस्टॉरेंट में नाश्ते के लिए टोस्ट लेने पहुंची महिला हुआ कुछ ये देखकर रह गई दंग
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags