नदी में डूबा युवक, मरने के बाद भी जीवित करने की आस में डटे रहे पिता

नदी की गहराई का नहीं था अंदाज़ा

जगदलपुर :

कार्तिक पूर्णिमा के दिन बस्तर के इन्द्रावती नदी में हजारों की संख्या में लोग स्नान के लिए पहुँचते है. नदी की गहराई की जानकारी नहीं होने से एक युवक की नदी में डूब जाने से मौत हो गई.

मृतक युवक का आज जन्मदिन भी था. बेटे के मरने के बाद भी पिता जीवित करने की आस में डटे रहे. घटना के बाद से गांव में मातम पसरा हुआ है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार आसना से सुबह जसकेतन पाणिग्राही का पूरा परिवार हँसी ख़ुशी इंद्रावती नदी में नहाने के लिए निकले थे. नदी पहुंचने के बाद पिता जसकेतन ने अपने बड़े बेटे 16 वर्षीय लव कुमार की पूजा अर्चना की जन्मदिन की बधाई दी.

उसके बाद सपरिवार एक साथ नदी में नहाने के लिए निकले. 16 वर्षीय लव कुमार अपने परिवार को पीछे छोड़ आगे निकल गया. उसे नदी की गहराई का अंदाज़ा नहीं था और वह डूब गया.

शुक्रवार सुबह 6 बजे से 8 बजे तक पुलिस और गोताखोरों की कड़ी मशक्कत के बाद शव को नदी से निकाला गया. अपने बच्चे की जान बचा पाने की आस में पिता ने बिना देर किए बच्चे को तुरंत अस्पताल ले गए, लेकिन तब तक लव कुमार की मौत हो चुकी थी. युवक के जन्मदिन के दिन ही मौत हो जाने से पूरे परिवार वालों पर दुःख का पहाड़ टूट पड़ा है.

1
Back to top button