ज्योतिष

कुछ तंत्र ऐसे भी है जिनका उपयोग इन सब तंत्रों की एक काट के रूप में किया जाता है।

आचार्य पं. श्रीकान्त पटैरिया (ज्योतिष विशेषज्ञ) छतरपुर मध्यप्रदेश, किसी भी प्रकार की समस्या समाधान के लिए सम्पर्क कर सकते हो, सम्पर्क सूत्र:- 9131366453

तंत्र:- ज्यादातर तंत्र मंत्रो का उपयोग तांत्रिक अपने किसी भी स्वार्थ हेतु अपने पास आने वाले साधक या व्यक्तियों के लिए लोगो की बुराई जैसे किसी को तन,मन ,धन से बर्बाद करना या संतानहीन करना या विधवेशन या आपस मे वैर करवाना जैसे कार्य करते है।लेकिन कुछ तंत्र ऐसे भी है जिनका उपयोग इन सब तंत्रों की एक काट के रूप में किया जाता है।इन्ही में से अघोड़ का एक तंत्र साधना कर्म है भाखरू तंत्र।इसमे केवल तंत्र के द्वारा किन्ही 2 व्यक्तियों जो कोई भी हो सकते है जैसे भाई भाई, पति पत्नी,प्रेमी,माता पिता ,भाई बहन या अन्य किसी भी 2 व्यक्तियों जिनको एक दूसरे के विपरीत किया गया हो उनके उस तंत्र की काट करके उनको फिर से आपस मे मिला दिया जाता है।ये सम्मोहन क्रिया नही है बल्कि उस तंत्र की काट भर है जो उन लोगो को आपस मे मन मुटाव पैदा करता है।

किन्ही 2 व्यक्तियों पर इस तरह किये गए तंत्र के लक्षण:- वो व्यक्ति आपस मे धीरे धीरे दूर होने लगते है,बाते करना बंद हो जाती है,मनमुटाव तेजी से बढ़ता है,आपस मे संबंध तेजी से खराब होते है और अंत मे टूट जाते है,पहले का घनिष्ठ प्रेम भी कुछ ही समय मे खत्म हो जाता है,समय गुजरने के साथ साथ शत्रु तुल्य व्यवहार हो जाता है और आपस मे आखर में एक दूसरे को बर्बाद करने पर चल जाते है,आपस मे देखने से भी कतराने लगते है,आपसी समझ का कोई असर नही रहता,आपस की प्रेम भारी बात भी शत्रु वचन जैसी लगती है।कुल मिलाकर एक दूसरे का छिपा हुआ शत्रुरूप।

किसी भी प्रकार की समस्या समाधान के लिए आचार्य पं. श्रीकान्त पटैरिया (ज्योतिष विशेषज्ञ) जी से सीधे संपर्क करें = 9131366453
———————————————————————————–

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button