मनोरंजन

कुशल पंजाबी : टेलीविज़न पर बड़े अभिनेताओं के लिए पर्याप्त भूमिकाएँ नहीं हैं

टेलीविज़न पर बड़े अभिनेताओं के लिए अवसर कम हो रहे हैं। अधिकांश समकालीन अभिनेता इस सच्चाई से जूझ भी रहे हैं। ‘स्टार भारत’ के लोकप्रिय शो ‘क्या हाल, मि. पांचाल?’ में शिवजी की भूमिका निभा रहे कुशल पंजाबी की ये सोच बदलती परिस्थितियों को देखते हुए कुछ हद तक सकारात्मक लगती है।

छोटे परदे पर वापस लौटे इस अभिनेता का कहना है, कि ‘मैं जानता हूँ कि अब अनुभवी अभिनेताओं के लिए उतनी अच्छी भूमिकाएँ नहीं हैं, जितनी पहले थीं। वास्तव में बड़े अभिनेताओं के लिए उचित भूमिकाएँ हैं ही नहीं! क्योंकि, ये तार्किक उन्नति भी है कि आज का दर्शक टीवी पर नए चेहरों को देखना चाहता है और प्रोडक्शन हाउज़ तथा चैनल उनकी इस माँग को पूरा भी कर रहे हैं। बॉलीवुड से अलग, टीवी के परदे पर आज 45 साल के अभिनेता को कॉलेज का स्टूडेंट नहीं दिखा सकते। इसके अलावा, युवा कलाकार बहुत कम बजट में राजी भी हो जाते हैं। गिनती में बने रहने का सबसे अच्छा तरीक़ा है, फ़िट रहना और मैं उस मंत्र का गंभीरता से पालन कर रहा हूँ। यही कारण है, कि मुझे इस उम्र में भी कोई पिता की भूमिका नहीं देता।

‘क्या हाल, मि.पांचाल?’ एक हास्यास्पद और मनोरंजक शो है, जिसमें एक माँ अपने बेटे के लिए पांच अलग-अलग गुणों वाली एक परिपूर्ण बहू की खोज में है। भारतीय टेलीविजन पर दर्शक यह पहली बार देखेंगे कि कोई सास अपनी बहुत ज्यादा अपेक्षा रखने के कारण खुद ही परेशान होती है। यह एक ऐसा सिटकॉम है, जो बताता है कि कभी-कभी बहुत ज्यादा चाह हमारे जीवन में संकट खड़ा करके गड़बड़ी पैदा देती है। इस शो में इस तथ्य पर भी प्रकाश डाला गया है कि आदर्श गुणों और निर्दोषता के लिए ज्यादा लालच खराब होता है और किसी को अपनी बहुओं से अवास्तविक अपेक्षाएं नहीं रखनी चाहिए!

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button