एक छोटा सा वर्ड है….सॉरी : ईद पर बने इस ऐड का देख चुके हैं 80 लाख लोग

ईद ऐसा त्योहार है जिसमें पुराने गिले-शिकवों को भूलाकर दोस्तों और सगे संबंधियों से गले मिलते हैं. यह त्योहार लोगों को जोड़ने वाला है. सोशल मीडिया पर छाए इस विज्ञापन को पिछले 10 दिन के भीतर ही करीब 80 लाख लोग देख चुके हैं और कई लाख लोग शेयर कर चुके हैं. एक छोटा सा वर्ड है….सॉरी, ‘थोड़ी हिम्मत करो और बोल डालो’ ‘सारे मैल धो डालो’. मतलब मन का मैल.
एड की शुरुआत ऐसी होती है जब बीवी अपने शौहर से पूछती है कि इस ईद घर पर कौन-कौन आ रहा है. शौहर बोलता है वही अपना गैंग. इसके बाद बीवी अपने शौहर को उन लोगों को भी बुलाने के लिए कहती है जिससे कभी न कभी थोड़े से मनमुटाव के कारण बातचीत बंद हो गई होती है. शौहर जब थोड़ा हिचकिचाता है तो बीवी बोलती है एक छोटा सा वर्ड है…’थोड़ी हिम्मत करो और बोल डालो’… इसके बाद जब वह अपने पुराने बॉस और दोस्तों को फोन करता है और पुरानी किसी बात के लिए सॉरी बोलता है जिसके कारण मनमुटाव है तो सभी लोग ईद के मौके पर गिले-शिकवों को भुलाकर उनके घर आते हैं और साथ में ईद-उल फितर सेलिब्रेट करते हैं.

Back to top button