मतगणना के दौरान गणना में किसी प्रकार की चूक ना हो : संजय अग्रवाल

अपर कलेक्टर ने मतगणना के लिए दिए आवश्यक निर्देश

दुर्ग : लोकसभा निर्वाचन 2019 के अंतर्गत 23 मई को रूंगटा कालेज भिलाई में मतगणना का कार्य संम्पन्न होगा। मतगणना के दौरान गणना का कार्य महत्वपूर्ण हैै। गणना के दौरान एक छोटी सी अंकीय त्रुटि पूरी मतगणना की पारदर्शिता को प्रभावित कर सकती है साथ ही अनावश्यक रूप से उलझन पैदा भी कर सकती है।

इसके लिए मतगणना के दौरान पूरी सर्तकता व सावधानी पूर्वक बिना किसी चूक के गणना का कार्य हो, यही मतगणना का ध्येय है। यह बात आज अपर कलेक्टर संजय अग्रवाल ने मतगणना कार्य के सहायक रिटर्रिनिंग अधिकारी एवं गणना प्रभारियों को सम्बोधित करते हुए कही।

उन्होने कहा कि दुर्ग लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के लिए 23 मई 2019 को रूंगटा कॉलेज भिलाई में मतगणना का कार्य किया जायेगा। इसके लिए मतगणना में नियुक्त लोगों को सुबह 6 बजे निर्वाचन कार्यालय द्वारा जारी अधिकृत प्रवेश पत्र के साथ प्रवेश करना होगा।

मतगणना कक्ष में कोई भी प्रतिबंधात्मक सामग्री लेकर प्रवेश करना पूर्णतः वर्जित है। उन्हांेने कहा कि विधानसभावार अलग-अलग कक्ष में मतों की गणना की जायेगी। प्रत्येक कक्ष में 14-14 टेबल लगाये गये है। टेबलवार आवश्यकतानुसार गणना सुपरवाईजर, गणना सहायक, रनर की ड्यूटी लगाई गई है।

सुबह 8ः30 बजे से ईव्हीएम से मतों की गणना प्रारंभ होगी। एक साथ एक बार में 14 मतदान केन्द्रों की गिनती होगी। ईव्हीएम में दर्ज मतों को एक निश्चित निर्धारित शीट में दर्ज की जायेगी। गणना की कापी राजनीतिक दलों के गणना अभिकर्ता को उपलब्ध कराया जाने के साथ ही साईनबोर्ड में अंकित किया जायेगा।

आरओ की निगरानी मंे डाटा एन्ट्री आपरेटर के द्वारा कम्प्यूटर में अंकित किया जायेगा। टेबलवार प्रत्याशियों को मिले मत एवं राउण्डवार गणना के दौरान बेहद सावधानी व सर्तकता के साथ गणना करने कहा गया है।

गणना कार्य मंे लगे अधिकारी व कर्मचारियों से कहा गया है कि वह मानसिक तौर पर तैयार रहे कि मतगणना का कार्य सुचारू रूप से कर सके। सभी ईव्हीएम की गणना हो जाने के पश्चात् प्रत्येक विधानसभा 5-5 मतदान केन्द्रों के व्हीव्ही पैट के पर्ची की गिनती की जायेगी।

Back to top button