पद्मावत` में कुछ भी अपमानजनक नहीं : एफडीसीअई अध्यक्ष

पद्मावत` में कुछ भी अपमानजनक नहीं : एफडीसीअई अध्यक्ष

मुंबई : फैशन डिजाइन काउंसिल ऑफ इंडिया (एफडीसीआई) के अध्यक्ष सुनील सेठी ने कहा कि फिल्म `पद्मावत` दर्शकों को अपने दिलचस्प दृश्यों और मजबूती से कही जाने वाली कहानी से बांधती है और इसमें कुछ भी अपमानजनक नहीं है। सेठी ने संजय लीला भंसाली की फिल्म को रिलीज से पहले रखी गई विशेष स्क्रीनिंग के मौके पर देखा।

सेठी ने आईएएनएस को बताया, `यह राजपूत वीरता और उस चरित्र की ताकत के बारे में है। रानी पद्मावती को बहुत ही सुंदर, बहादुर और बुद्धिमान महिला के रूप में दर्शाया गया है। विरोध प्रदर्शन का कोई कारण नहीं है। सच तो यह है कि अलाउद्दीन खिलजी धूर्त खलनायक है जिसे किसी से भी कोई हमदर्दी नहीं मिलेगी।

सेठी ने कहा कि फिल्म में पद्मावती और खिलजी के बीच कोई स्वप्न दृश्य नहीं है और न ही ऐसा कोई दृश्य है जिसमें दोनों साथ नजर आ रहे हों।

सेठी ने कहा, `रणवीर ने अलाउद्दीन खिलजी के किरदार में एक अभिनेता के रूप में अपनी असाधारण प्रतिभा का प्रदर्शन किया है और वह हर पुरस्कार जीतेंगे। दीपिका ने भी अच्छा अभिनय किया है और उनकी सराहना होनी चाहिए। सर्वाधिक आश्चर्यचकित खिलजी के विश्वास्पात्र की भूमिका में जिम सर्भ करते हैं। भव्य सेट हैं..भंसाली विजेता हैं।`

घूमर गीत की तारीफ करते हुए सेठी ने कहा कि इसे बहुत ही सुंदर तरीके से फिल्माया गया है। उन्होंने कहा, `फिल्म में किसी भी तरह से कुछ भी अपमानजनक नहीं है। `पद्मावत` दर्शकों को अपने दिलचस्प दृश्यों और मजबूती से कही जाने वाली कहानी से बांधती है। इसे देखने के बाद हर कोई आश्चर्य कर रहा था कि इस फिल्म पर क्यूं इतना विवाद हुआ।`

advt
Back to top button